Homeअंतरराष्ट्रीयक्या है नेप्च्यून क्रूज मिसाइल? जिसने रूस के सबसे बड़े युद्धपोत को...

क्या है नेप्च्यून क्रूज मिसाइल? जिसने रूस के सबसे बड़े युद्धपोत को कर दिया तबाह


कीव/मॉस्को. रूस और यूक्रेन जंग (Russia-Ukraine War) को आज 50 दिन हो रहे हैं. जंग में रूस को भारी नुकसान उठाना पड़ा है. न्यूज़ एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस का सबसे बड़ा युद्धपोत (Russian Warship Damaged) काला सागर में तबाह हो गया है. रूसी रक्षा मंत्रालय ने काला सागर में युद्धपोत के तबाह होने की पुष्टि कर दी है. रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि युद्धपोत पर तैनात सभी क्रू मेंबर्स को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, नेप्च्यून क्रूज मिसाइल के अटैक के बाद रूस के वॉरशिप में विस्फोट हुआ. आइए जानते हैं-क्या है नेप्च्यून क्रूज मिसाइल? कितनी है इसकी ताकत…

  • किस तरह के मिसाइल के रूस के सबसे बड़े युद्धपोत मोस्कवा पर हुआ हमला?

    यूक्रेन का दावा है कि मोस्कवा पर दो एंटी-शिप क्रूज मिसाइल से हमला हुआ. इस तरह के मिसाइल को नेप्च्यून कहते हैं. विडंबना यह है कि इस मिसाइल का डिजाइन रूसी Kh-35 क्रूज मिसाइल पर आधारित है.नेप्च्यून मिसाइल प्रणाली को लगभग छह वर्षों तक रिसर्च में रहने के बाद मार्च 2021 में यूक्रेनी रक्षा बलों में शामिल किया गया था. क्रूज मिसाइल को सेना द्वारा जल्दबाजी में विकसित किया गया था, क्योंकि 2014 में क्रीमिया के कब्जे के बाद से यूक्रेन के तटीय क्षेत्रों के लिए रूसी खतरा तेजी से बढ़ रहा था. यूक्रेनी रक्षा मंत्रालय के अनुसार, नेप्च्यून एक तटीय जहाज-रोधी क्रूज मिसाइल है जो 300 किमी की सीमा में नौसैनिक जहाजों को नष्ट करने में सक्षम है.

  • मोस्कवा क्या है, जिसे नेप्च्यून मिसाइल ने तबाह कर दिया?

    रूस के इस युद्धपोत का नाम मोस्कवा है और ये काफी विध्वंसक युद्धपोत की श्रेणी में आता है. इस युद्धपोत की लंबाई 600 फीट थी. इस मिसाइल का वजन 12 हजार 500 टन था, जिसे सबसे पहली बार साल 1979 में कमीशन किया गया था. इस युद्धपोत के जरिए रूसी सेना को गाइडेड क्रूजर मिसाइल दागने की क्षमता में काफी इजाफा हुआ था

  • बुधवार को ये अटैक कैसे हुआ?

    रूसी रक्षा मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, इस युद्धपोत पर 510 क्रू मेंबर्स सवार थे और युद्धपोत पर धमाके के बाद सभी क्रू मेंबर्स को बाहर निकालने के लिए बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया. रूसी युद्धपोत में ये धमाका ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के यूक्रेन दौरे के ठीक बाद हुआ है, जब उन्होंने यूक्रेन की मदद के लिए 120 बख्तरबंद गाड़ियां और नई एंटी शिप मिसाइल सिस्टम भेजने की बात कही थी.

  • नुकसान कितना बड़ा है?

    रिपोर्ट के मुताबिक, रूस का ये मिसाइल क्रूजर काला सागर में तैनात था और दुश्मनों पर लगातार नजर रखे हुआ था, लेकिन ये मिसाइल क्रूजर अब तबाह हो गया है. विस्फोट में मिसाइल क्रूजर को काफी नुकसान पहुंचा है. रिपोर्ट के मुताबिक, धमाके की चपेट में युद्धपोत पर रखे गये गोला बारूद भी आ गये थे, जिसकी पुष्टि रूसी रक्षा मंत्रालय ने की है.

  • ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -
    Google search engine

    Most Popular

    Recent Comments

    error: Content is protected !!