Homeअंतरराष्ट्रीयरूस ने यूक्रेन के ल्वीव शहर पर पर दागी 5 ताकतवर मिसाइलें,...

रूस ने यूक्रेन के ल्वीव शहर पर पर दागी 5 ताकतवर मिसाइलें, 6 लोगों की मौत


कीव. यूक्रेन और रूस के बीच का जंग खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है और इसकी वजह से पूरी दुनिया अलग-अलग वजहों से कई तरह के संकटों से जूझ रही है. इससे यूक्रेन में भारी पैमाने पर जान-माल की हानि हो रही है. दूसरी ओर रूस ने इस पूरे मामले को अपने अहं पर ले लिया है और वह लगातार यूक्रेन को नेस्तनाबूद करने की कोशिश में जुटा हुआ है. इसी के चलते रूस ने यूक्रेन के पश्चिमी हिस्से स्थित शहर ल्वीव में 5 ताकतवर मिसाइलों से हमला बोल दिया है. इस हमले में 6 लोगों की मौत हुई और 8 लोग घायल हुए हैं. वहीं बंदरगाह शहर मारियुपोल में भी लड़ाई तेज होती रही है. मॉस्को का दावा है कि मारियुपोल पर कब्जा करने की लड़ाई अपने अंतिम चरण में है.

ल्वीव के मेयर एंड्री सदोवी ने फेसबुक पर एक पोस्ट में इन हमलों की जानकारी दी है. मेयर ने लिखा है कि हमले की जगह पर आपातकालीन सेवाएं पहुंच गई हैं और हालात को संभालने में लगी हैं. वहीं प्रत्यक्षदर्शियों ने भी विस्फोट की जानकारी दी है. यूक्रेन के पश्चिमी हिस्से पर अभी तक रूस के हमलों का कम असर पड़ा था.

हाइपरसोनिक मिसाइलों को अपग्रेड करने के लिए AI का इस्तेमाल करेगा NASA, रूस के लिए खतरे की बात

वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूस को सामान्य नागरिकों के खिलाफ जानबूझकर हमला करके आंतक फैलाने के लिए लताड़ा है. रूस ने जहां पूर्वोत्तर के शहरों में गोलीबारी जारी रखी हुई है वहीं मारियुपोल में आक्रमण तेज कर दिया है. यूक्रेन के राष्ट्रपति ने रूसी सैनिकों पर इस दौरान आम नागरिकों पर अत्याचार और उनका अपहरण करने का आरोप लगाया है.

गौरतलब है कि 24 फरवरी से चल रहे इस युद्ध में हजारों लोगों की जान जा चुकी है और करीब 50 लाख यूक्रेनी देश छोड़कर जा चुके हैं. रूस का दावा है कि अभी तक यूक्रेन मारियुपोल में अपने 4000 सैनिकों को गंवा चुका है. वहीं यूक्रेन का कहना है कि लड़ाई में पूरे देश भर में उनके 2500 से 3000 सैनिकों की जान गई है. यूक्रेन की सरकार ने कसम खाई है कि वे आखरी सांस तक लड़ेंगे.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Ukraine, Vladimir Putin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!