Homeअंतरराष्ट्रीयएलन मस्क ने प्राइवेट जेट में यौन उत्पीड़न के आरोपों को झूठा...

एलन मस्क ने प्राइवेट जेट में यौन उत्पीड़न के आरोपों को झूठा बताया, कहा- इसे राजनीतिक चश्मे से देखें


ओकलैंड. अरबपति एलन मस्क ने गुरुवार देर रात ट्विटर पर एक समाचार रिपोर्ट में किए गए दावों को सरासर झूठा बताया और इसकी निंदा की. रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने 2016 में निजी जेट पर एक फ्लाइट अटेंडेंट का यौन उत्पीड़न किया था. इससे पहले बिजनेस इनसाइडर ने गुरुवार को कहा था कि मस्क के स्पेसX ने 2018 में एक अज्ञात निजी जेट फ्लाइट अटेंडेंट से यौन उत्पीड़न के दावे को निपटाने के लिए ढाई लाख डॉलर का भुगतान किया था. एनडीटीवी के मुताबिक इस लेख में एक गुमनाम व्यक्ति के हवाले से कहा गया है कि जिस महिला ने यह जानकारी दी, वह फ्लाइट अटेंडेंट की दोस्त थी. मामले में मस्क ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं इस झूठ को चुनौती देता हूं, जो मुझे एक्सपोज करने का दावा करता है, जबकि कभी ऐसा कुछ हुआ ही नहीं. उन्होंने कहा है कि उनके खिलाफ आरोपों को राजनीतिक चश्मे से देखा जाना चाहिए.’

बिजनेस इनसाइडर ने फ्लाइट अटेंडेंट की दोस्त के हवाले से लिखा है कि इन-फ्लाइट मसाज के दौरान मस्क ने फ्लाइट अटेंडेंट की जांघ पर हाथ रखा और उसे एक घोड़ा खरीदने की पेशकश की, लेकिन उसने मस्क के प्रस्ताव को नकार दिया. बिजनेस इनसाइडर के अनुसार, फ्लाइट अटेंडेंट को यह विश्वास हो गया कि मस्क के प्रस्ताव को अस्वीकार उसके स्पेस एक्स में काम करने के अवसरों को नुकसान पहुंचा और उसे 2018 में एक वकील को नियुक्त करना पड़ा.

समाचार एजेंसी रायटर्स ने दावा किया है कि वो बिजनेस इनसाइडर के रिपोर्ट की पुष्टि नहीं करता है, क्योंकि मस्क और स्पेस एक्स ने रॉयटर्स के इस मामले पर पूछे गए सवाल का कोई जवाब नहीं दिया है. बिजनेस इनसाइडर ने कहा कि मामले में रॉकेट कंपनी ने अदालत के बाहर समझौता किया और एक और समझौता शामिल किया, जिससे तहत फ्लाइट अटेंडेंट को इसके बारे में बोलने से रोक दिया गया. इससे पहले टेस्ला इंक के मुख्य कार्यकारी मस्क ने बुधवार को कहा कि वह डेमोक्रेट के बजाय रिपब्लिकन को वोट देंगे.

पढ़ें: US के स्टैनफोर्ड में क्लाइमेट चेंज डिपार्टमेंट के डीन बने अरुण मजुमदार

बिजनेस इनसाइडर के लेख में, मस्क को यह कहते हुए उद्धृत किया गया था कि फ्लाइट अटेंडेंट की कहानी राजनीति से प्रेरित थी और इसमें बहुत कुछ था. गुरुवार की शाम को मस्क ने सबसे पहले ट्वीट किया, ‘मेरे खिलाफ हमलों को राजनीतिक चश्मे से देखा जाना चाहिए – यह उनकी मानक (घृणित) प्लेबुक है, लेकिन कुछ भी मुझे अच्छे भविष्य और आपके बोलने की स्वतंत्रता के अधिकार के लिए लड़ने से नहीं रोकेगा.’

गौरतलब है कि बिजनेस इनसाइडर में छपे लेख में लगाए गए आरोपों का उल्लेख मस्क ने अपने ट्वीट में नहीं किया था. मस्क ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि यह रिकॉर्ड झूठे हैं. लेख का उद्देश्य ट्विटर अधिग्रहण में हस्तक्षेप करना था.

Tags: Elon Musk

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!