Homeअंतरराष्ट्रीयक्या पुतिन को हो गई रहस्यमयी बीमारी? अमेरिकी अफसर का दावा- उनमें...

क्या पुतिन को हो गई रहस्यमयी बीमारी? अमेरिकी अफसर का दावा- उनमें से अजीब सी गंध आती थी…


नई दिल्ली. यूक्रेन युद्ध के बाद दुनिया भर की निगाहें रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) पर लगी रहती हैं. यहां तक कि वे क्या खाते हैं, क्या पीते हैं, उन्हें कौन सी बीमारी है, वे कहां है आदि-आदि. अब उनके बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति आवास यानी व्हाइट हाउस की एक पूर्व एडवाइजर ने सनसनीखेज दावा किया है. उन्होंने कहा है कि रूसी राष्ट्रपति जब बैठक में आते थे, तो उनसे एक अजीब गंध निकलती थी. यहां तक कि उन्हें कभी खाते हुए भी नहीं देखा गया. चूंकि पुतिन की कई दिनों से बीमार होने की खबरें लगातार आ रही हैं. इसी कड़ी में अमेरिकी एडवायजर ने यह सनसनीखेज दावा किया है.

व्हाइट हाउस की पूर्व एडवाइजर डॉ फियोना हिल ने कहा है कि जब भी बैठक में मैं उनके साथ होती थी तो ऐसा लगता था कि राष्ट्रपति अभी-अभी विशेष तरह से स्नान करके आए हैं. उन्हें अमेरिकी नेताओं के साथ बैठक में कभी खाते हुए भी नहीं देखा. डॉ फियोना रूस की राजनीति की विशेषज्ञ मानी जाती है और उन्होंने जॉर्ज डब्ल्यू बुश से लेकर डोनाल्ड ट्रंप तक को अपनी सेवाएं दी हैं.

जैसे लॉन्ड्री से धुलकर अभी-अभी आए हैं
डॉ फियोना हिल बीबीसी रेडियो के साथ एक कार्यक्रम आइलैंड डिस्क में ये बातें बोल रही थी. उन्होंने कहा कि यह सुनने में थोड़ा अजीब लगे लेकिन बैठक में उनके शरीर से एक अजीब गंध आती थी. ऐसा लगता था कि वे अभी-अभी विशेष तौर पर बने स्नान घर से आए हैं. यह ठीक इसी तरह से था जैसे कोई स्टेज पर प्रदर्शन करने से पहले खास तौर पर तैयार होते हैं. बेशक यह सुनने में अजीब लगे लेकिन यह सच है. इसके अलावा मैंने उन्हें कभी खाते हुए भी नहीं देखा. वे कहती हैं जब भी रूसी राष्ट्रपति के साथ अमेरिकी नेताओं की मुलाकात होती थी, मुझे उनके सामने बिठा दिया जाता था. इस समय मैं स्पष्ट रूप से ऐसा सूंघ सकती थी कि वे किसी लॉन्ड्री से धुलकर अभी-अभी आए हैं. मुझे लगता था कि हर पल वे स्टेज पर प्रदर्शन के लिए तैयार हैं. डॉ फियोना ने कहा, मैंने उनके साथ कई बार यही चीज नोटिस की. यहां तक कि जब वे कमजोर होने लगे और उनके पैर तक हिलने लगे थे. डॉ फियोना ने कई अमेरिकी राष्ट्रपतियों के संग पुतिन के साथ बैठक में मौजूद होती थीं.

क्यों उनके सामने ही बिठाया जाता
डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक डॉ फियोना ने यह भी खुलासा किया कि क्यों उन्हें राष्ट्रपति पुतिन के सामने ही बिठाया जाता था. उन्होंने कहा, उस समय मैं अमेरिकी सरकार के साथ काम करती थी. मैं अक्सर सोचा करती थी कि आखिर क्यों मुझे उनके सामने ही बिठाया जाता है. मैं अपनी फैंटेसी में इसके लिए अलग-अलग तरह से कल्पना करती रहती थी. कभी मुझे लगता था कि मैं शायद जेम्स बॉन्ड की कैरेक्टर जूडी डेंच की तरह हूं, इसलिए मुझे ये लोग उनके सामने बिठाते हैं. फिर मुझे लगा कि अगर राष्ट्रपति पुतिन को गुस्सा आ जाएं तो खाने की मेज से कांटा (Fork) उठाकर मुझपर वार करने के लिए मैं उनके लिए सबसे कम उपयुक्त व्यक्ति लगूंगी. इसके बाद रूसी राष्ट्रपति के दूसरे तरफ बैठने वाले एक व्यक्ति ने मुझे बताया कि मैं उनके सामने इसलिए बिठाई जाती हूं क्योंकि मैं एकदम साधारण हूं. न तो मैं बहुत बुजूर्ग हूं और न ही बहुत ज्यादा जवान दिखती हूं. इसके अलावा न ही मैं कोई फैंसी ड्रेस पहनती हूं और न ही मेरे सीने में उभार के बीच में कोई आकर्षण (Cleavage) दिखता है. इसलिए मैं वहां के लिए उसी तरह की व्यक्ति हूं.

पुतिन पास में रखते थे बड़े-बड़े कार्ड
विशेषज्ञों ने बताया कि डॉ फियोना हिल बैठक में राष्ट्रपति पुतिन के सामने इतनी करीब होती थी कि वे उन्हें छू भी सकती थी और उनके ड्रेस की सिलवट की बारीकियों को भी बता सकती थी. यहां तक कि उनके चेहरे की नसें भी स्पंदित होती होगी, तो उसे भी वह भांप सकती थी. डॉ फियोना ने यह भी देखा कि किस तरह राष्ट्रपति पुतिन अपने पास बड़े-बड़े कार्ड्स रखते थे. इसके बारे में उन्होंने बताया कि इस कार्ड में शायद यह बात थी कि कौन क्या हैं औऱ किसे क्या कहना चाहिए.

Tags: Russia, Vladimir Putin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments