Homeअंतरराष्ट्रीय3 महीने की जंग के बाद पहली बार खार्किव पहुंचे जेलेंस्की, नुकसान...

3 महीने की जंग के बाद पहली बार खार्किव पहुंचे जेलेंस्की, नुकसान का लिया जायजा


कीव. रूस-यूक्रेन के बीच जंग के 95 दिन बीत चुके हैं. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने खार्किव का दौरा किया. 24 फरवरी को शुरू हुई जंग के बाद से ये पहली बार है, जब जेलेंस्की राजधानी कीव से बाहर निकले हैं. यहां उन्होंने फ्रंटलाइन पर पहुंचकर सैनिकों से मुलाकात की. खार्किव यूक्रेन का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. रूसी हमले से शहर खंडहर में तब्दील हो गया है.

जेलेंस्की के कार्यालय ने टेलीग्राम पर जेलेंस्की को एक बुलेट-प्रूफ जैकेट पहने खार्किव और उसके आसपास का दौरा करते दिखाया है. टेलीग्राम पोस्ट में कहा गया, ‘खार्किव और क्षेत्र में 2,229 इमारतों को नष्ट कर दिया गया है. हम पुनर्स्थापित करेंगे, पुनर्निर्माण करेंगे और फिर से लोगों को वापस लाएंगे. खार्किव और अन्य सभी कस्बों, गांवों में जहां बुराई आई थी.’

पूर्वी यूक्रेन में भीषण बमबारी, रूसी सेना सिविरोदोनेत्स्क शहर पर कब्जा करने की कोशिश में

बता दें कि डोनबास के पूर्वी यूक्रेनी क्षेत्र के नियंत्रण के लिए एक बार फिर लड़ाई रविवार को उग्र हो गई, क्योंकि रूसी सेना ने सेवेरोडनेत्स्क और लिसिचन्स्क के प्रमुख शहरों के आसपास अपनी पकड़ मजबूत कर ली. रूसी सेना आए दिन और ज्यादा आक्रमक होती जा रही है.

जीत का किया था दावा
इससे पहले शुक्रवार को जेलेंस्की ने अपने दो संबोधनों में देश के पूर्वी हिस्से में हुई सबसे भीषण लड़ाई और यूक्रेन युद्ध में रूसी सेना पर आखिरकार जीत दर्ज करने की घोषणा की. उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित किया. जेलेंस्की ने कहा, ‘‘यूक्रेन एक ऐसा देश है, जिसने रूसी सेना की असाधारण शक्ति के मिथक को तोड़ दिया है. एक ऐसी सेना, जिसके बारे में माना जाता था कि वह कुछ ही दिनों में किसी को भी हरा सकती है.’’

जेलेंस्की ने कहा, ‘‘अब रूस पूरे देश पर कब्जा करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन हम यूक्रेन के भविष्य के बारे में सोचने के लिए काफी मजबूत स्थिति में हैं, जो पूरी दुनिया के लिए खुला रहेगा.’’

यूक्रेन का आरोप- मारियुपोल से स्टील चोरी कर रहा है रूस
इस बीच यूक्रेन ने रूस पर मारियुपोल शहर से स्टील चोरी करने का आरोप लगाया है. यहां की लोकपाल ल्यूडमिला डेनिसोवा ने कहा कि रूस ने मारियुपोल से चुराए गए स्टील को ट्रांसपोर्ट करना शुरू कर दिया है. यहां से 3,000 टन स्टील शिप के जरिए रूस के रोस्तोव-ऑन-डॉन शहर भेजे जा चुके हैं. डेनिसोवा ने बताया कि मारियुपोल पोर्ट पर रूसी कब्जे से पहले करीब 2 लाख टन मेटल और 170 मिलियन डॉलर कीमत के कास्ट आयरन रखे हुए थे.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments