Homeछत्तीसगढ60 साल पुराने कॉलेज की लाइब्रेरी से 50 हजार किताबें चोरी, अब...

60 साल पुराने कॉलेज की लाइब्रेरी से 50 हजार किताबें चोरी, अब रद्दीवालों के ठिकाने तलाश रही पुलिस


रायपुर/कोरिया. छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले का सबसे पुराने महाविद्यालय शासकीय लहरी महाविद्यालय के लाइब्रेरी से पूरी पुस्तकें चोरी हो गई हैं. घटना का पता बीते 25 मई को कॉलेज प्रबंधन को तब लगी, जब लाइब्रेरियन ने दरवाजा और खिड़की टूटी देखी. चिरमिरी क्षेत्र के इस कॉलेज की पुरानी लाइब्रेरी में करीब 50 हजार किताबें रखीं थीं. हैरानी की बात है कि जब लाहिड़ी महाविद्यालय के प्राचार्य से इस पुस्तकालय की चोरी के संदर्भ में पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. हालांकि पुलिस को मामले की सूचना दी गई है और जांच भी शुरू हो गई है.

चिरमिरी में करीब 60 साल पुराना शासकीय लाहिड़ी कॉलेज है. संभाग के पहले और छत्तीसगढ़ के तीसरे इस हायर एजुकेशन सेंटर की शुरुआत साल 1953 में हुई. यहां की लाइब्रेरी में जाने-माने और देश-विदेश के कई लेखकों की किताबें थीं. इनमें ब्रिटिश काल से लेकर अब तक की विज्ञान, राजनीतिशास्त्र, समाज शास्त्र, इतिहास और वाणिज्य की किताबें शामिल हैं. साल 2014-15 में कॉलेज के लिए नया भवन बना, पर पुरानी लाइब्रेरी से किताबों को नए में शिफ्ट नहीं किया गया.

रद्दीवालों पर शक
कॉलेज प्रबंधन को शक है कि इतनी बड़ी संख्या में किताबें रद्दी- कबाड़ वाले ही चुरा सकते हैं. पूरी किताबें एक ही दिन में चोरी की गई हैं. क्योंकि लाइब्रेरी के गेट का ताला और दरवाजा दोनों को तोड़कर चोर अंदर दाखिल हुए. जांच अधिकारी बीके राजवाड़े कहते हैं कि विवेचना कर रहे हैं. संदेह है कि किताबें एक बार में चोरी नहीं हुई हैं. हालांकि शिकायत में यह भी बताया गया है कि अलमारी को तोड़ा गया, पर उनमें ताले ही नहीं लगे थे. हालांकि पुलिस रद्दी और कबाड़ी वालों के यहां भी तलाश कर रही है.

किताबें कब चोरी हुईं, किसी को नहीं पता
कॉलेज की लाइब्रेरी से किताबें कब चोरी हुईं, किसी को नहीं पता. प्रभारी प्राचार्य डॉ. आरती तिवारी ने बताया कि उनको जानकारी मिलने के बाद लिखित शिकायत चिरमिरी थाने में की गई है. थाना प्रभारी कमलकांत शुक्ला कहते हैं शिकायत के बाद कुछ जानकारियां कॉलेज प्रबंधन से मांगी गईं थीं. पुलिस मामले की जांच कर रही है. संबंधित लोगों से पूछताछ भी की जा रही है.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments