HomeCrimeमूसेवाला मर्डर केस की जांच के दौरान पुलिस को मिले अहम सबूत,...

मूसेवाला मर्डर केस की जांच के दौरान पुलिस को मिले अहम सबूत, जानिए पूरी जानकारी…

“मूसेवाला मर्डर केस की जांच के दौरान पुलिस को मिले अहम सबूत, जानिए पूरी जानकारी।”

चंडीगढ़ ऑफिस डेस्क :- (मूसेवाला मर्डर केस) मशहूर पंजाबी सिंगर और कांग्रेस के नेता सिद्धू मूसेवाला का मंगलवार को उनके पैतृक गांव मूसा में अंतिम संस्कार किया जा रहा है इस दौरान भारी भीड़ जुटी हुई है, सिद्धू की मौत को लेकर गरमाई सियासत के बीच पंजाब पुलिस हत्यारों तक पहुंचने की कोशिश में लगी है।

मूसेवाला मर्डर केस
मूसेवाला मर्डर केस

पुलिस के हाथ कई अहम सबूत लगे हैं, पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिला है, जिसमें सात संदिग्ध लोग एक ढाबे में बैठकर खाना खाते दिख रहे हैं, पुलिस ने इनमें से कुछ की पहचान कर ली है, पुलिस की जांच में कई नाम सामने आए हैं, जिनका सिद्धू की हत्या से संबंध होने का शक है।

“ढाबे पर खाना खाते दिखे संदिग्ध।”

पंजाब पुलिस को मिला ये सीसीटीवी फुटेज मनसुख ढाबे का है, जो मनसा जिले में भीखी रोड पर पड़ता है, सिद्धू पर हमले से कुछ घंटे पहले 29 मई की सुबह ये लोग ढाबे में गए थे, सीसीटीवी में सातों लोग ढाबे के अंदर टेबल कुर्सी पर बैठकर खाना खाते नजर आ रहे हैं।

पुलिस ने इनमें से दो युवकों की पहचान कर ली है, पुलिस सूत्रों के मुताबिक, इनके नाम मनप्रीत सिंह मन्नू निवासी कुस्सा और जगरूप सिंह रूपा निवासी जौरा बताए जा रहे हैं, कुस्सा और जौरा पंजाब के ही गांव हैं, पुलिस अब इनकी धरपकड़ में जुटी है, बाकी लोगों की पहचान की कोशिश की जा रही है।

“पुलिस जांच में सामने आए कई नाम।”

इसके अलावा, पुलिस की अब तक की जांच में कई नाम सामने आए हैं, जिनके बारे में शक है कि वो किसी न किसी तरह सिद्धू मूसेवाला की हत्या से जुड़े हुए हैं, टॉप खुफिया सूत्रों ने न्यूज 18 को बताया कि जिन लोगों पर पुलिस को शक है।

मूसेवाला मर्डर केस
मूसेवाला मर्डर केस

उनमें हिसार निवासी भोला, नारनौद के रहने वाले सतेंदर काला, सोनू काजल व बिट्टू के अलावा अजय गिल, अमित काजला, गोल्डी बरार, लॉरेंस बिश्नोई और एक पंजाबी सिंगर का मैनेजर सचिन और जग्गू भग-वानपुरिया शामिल हैं, इनमें ज्यादातर पंजाब व हरि-याणा के हैं।

“तिहाड़ में गैंगस्टरों से पूछताछ।”

इस बीच, पुलिस ने दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई, काला जठेड़ी और काला राणा से सिद्धू मूसेवाला की हत्या के सिलसिले में पूछताछ की है, पंजाब के पुलिस प्रमुख वीके भवरा ने रविवार को कहा था कि पहली नजर में सिद्धू की हत्या लॉरेंस बिश्नोई और लकी पटियाला गैंगों की आपसी लड़ाई का नतीजा लग रहा है।

पुलिस का मानना है कि लॉरेंस बिश्नोई जेल के अंदर से ही बरसों से अपना रैकेट चलाता रहा है, पहले वह राजस्थान की जेल में बंद था, फिर उसे दिल्ली शिफ्ट कर दिया गया, पंजाब ही नहीं राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली में उसके खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, उगाही, लूट, डकैती के तमाम केस दर्ज है।

“बिश्नोई को एनकाउंटर का अंदेशा।”

लॉरेंस बिश्नोई ने दिल्ली की अदालत में अर्जी दाखिल करके आशंका जताई थी कि पंजाब पुलिस उसका फर्जी एनकाउंटर कर सकती है, उसके याचिका पर जल्द सुनवाई की गुहार लगाई थी, लेकिन अदालत ने जल्दी सुनवाई से इनकार कर दिया।

दिल्ली पुलिस ने पिछले महीने शाहरुख नाम के गैंगस्टर को पकड़ा था, जिसने कथित तौर पर कबूला था कि वो सिद्धू मूसेवाला की हत्या की फिराक में था, 28 साल के शाहरुख पर 2 लाख का इनाम है, हत्या, हत्या के प्रयास और उगाही जैसे कई केस उसके खिलाफ दर्ज हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments