Homeछत्तीसगढट्रेन में मयखानाः एसी कोच में तकिये के नीचे छुपाकर रखता था...

ट्रेन में मयखानाः एसी कोच में तकिये के नीचे छुपाकर रखता था ब्रांडेड शराब, ऐसे खुली पोल


बिलासपुर. लंबी दूरी की ट्रेनों में शराब की तस्करी की शिकायत पर आरपीएफ ने बड़ी कार्रवाई की है. नई दिल्ली से दुर्ग तक आने वाली संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के एक एसी कोच के अटेंडर को गिरफ्तार किया गया है. अटेंडर के केबिन से तकिया और चादर के नीचे 2 बैग बरामद हुए, जिसमें 18 बोतल महंगी शराब रखी थीं. बताया जा रहा है कि अटेंडर यात्रियों को सफर के दौरान अवैध तरीके से शराब उपलब्ध कराता था. हालांकि इसको लेकर कोई पुष्टि आरपीएफ की ओर से नहीं गई है.

बिलासपुर आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक ऋषि शुक्ला ने बताया कि ट्रेन में शराब की तस्करी की शिकायत मिली थी. बीते 8 जून को मुखबिर से जानकारी मिली थी कि ट्रेन संख्या 12824 नई दिल्ली से दुर्ग तक आने वाली संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में शराब लाई जा रही है. इसके बाद अलग-अलग कोचों की जांच की गई. एसी कोच बी-4 में अटेंडर के सामान रखने की जगह पर तकिया और चादर के नीचे 2 बैग छिपाए गए थे. बैग की जांच में ऑफिसर च्वाइस ब्ल्यू, ब्लेंडर्स प्राइड और इम्पीरियल ब्ल्यू की कुल 18 बोतलें मिलीं. पूछताछ में अटेंडर संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया.

पेंड्रा रोड में उतारा गया

प्रभारी निरीक्षक शुक्ला ने बताया कि अंटेडर ठेका कंपनी द्वारा नियुक्त निजी कर्मचारी है. अंटेडंर ने अपना नाम राकेश गोंड बताया. आरोपी मध्य प्रदेश के पन्ना का रहने वाला है, जिसकी उम्र 27 वर्ष है. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने दिल्ली से शराब खरीदी थी. इसके बाद छिपाकर रख दिया था. आरोपी को पेंड्रा रोड में उतारकर उसे जीआरपी के हवाले सुपुर्द किया गया है. शुक्ला ने बताया कि आरपीएफ की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है. ट्रेनों में शराब तस्करी, गांजा तस्करी और मोबाइल फोन चोरों को लगातार पकड़ा जा रहा है. पिछले एक सप्ताह में गांजा तस्कर, शराब तस्कर और मोबाइल चोर बिलासपुर रेल डिविजन में पकड़े गए हैं.

Tags: Bilaspur news, Chhattisgarh news

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments