Homeअंतरराष्ट्रीयदुनिया का अंत करीब...पुतिन के करीबी दिमित्री मेदवेदेव ने अमेरिका समेत पश्चिमी...

दुनिया का अंत करीब…पुतिन के करीबी दिमित्री मेदवेदेव ने अमेरिका समेत पश्चिमी देशों को चेताया


मॉस्को. रूस और यूक्रेन जंग के 110 दिन हो चुके हैं. यूक्रेन के तमाम शहरों पर हमले जारी हैं. इस बीच रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन का दाहिने हाथ कहे जाने वाले दिमित्री मेदवेदेव ने पश्चिमी देशों को महाविनाश की चेतावनी दी है. रूस के पूर्व राष्‍ट्रपति मेदवेदेव ने कहा, ‘कयामत के घोड़े अपने रास्‍ते में हैं. दुनिया का अंत करीब है. अमेरिका समेत पश्चिमी देश यूक्रेन को हथियारों की सप्लाई नहीं करें.’ मेदवेदेव को पुतिन के मुकाबले ज्‍यादा उदारवादी माना जाता है, लेकिन यूक्रेन को लेकर वह भी एकदम कट्टर रुख अपना रहे हैं.

‘डेली मेल’ और ‘मिरर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस के राष्‍ट्रीय सुरक्षा परिषद के उप प्रमुख मेदवेदेव ने यूक्रेन और उसके सहयोगी देशों को पिछले सप्‍ताह यह चेतावनी दी. उन्‍होंने कहा, ‘अक्‍सर मुझसे पूछा जाता है कि मेरे टेलिग्राम पोस्‍ट इतने ज्‍यादा कर्कश क्‍यों होते हैं. इसका जवाब है कि मैं उनसे घृणा करता हूं. वे रूस का खात्‍मा चाहते हैं. जब तक मैं जिंदा हूं, मैं वह हर चीज करूंगा ताकि वे उन्‍हें लापता किया जा सके.’ इससे पहले मेदवेदेव ने चेतावनी दी थी कि अगर रूस यूक्रेन को दी गई पश्चिमी देशों की मिसाइलों की जद में आता है तो वह अपने सैन्‍य अभियान का विस्‍तार करने के लिए तैयार है.

‘यूक्रेन पर हमले वाले दिन इमरान खान की रूस यात्रा महज इत्तेफाक थी’

मेदवेदेव कट्टरपंथियों को खुश करने की कोशिश कर रहे

इस बीच रूस के पूर्व विपक्षी सांसद दमित्री गुडकोव ने दावा किया कि मेदवेदेव की नजर सत्‍ता पर है, ताकि अगर पुतिन को पद छोड़ने के लिए बाध्‍य किया जाए तो वह कुर्सी पर कब्‍जा कर लें. उन्‍होंने कहा, ‘मेदवेदेव इस उम्‍मीद में कट्टरपंथियों को खुश करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि पुतिन के सत्‍ता छोड़ने पर उन्‍हें प्रमोट कर दें.’ मेदवेदेव ने अप्रैल में एक टेलिग्राम पोस्‍ट लिखा था और यूक्रेन पर हमले को सही ठहराय था. साथ ही पूरे यूरोप और एशिया में रूस के प्रभाव को बढ़ाने का आह्वान किया था.

जेलेंस्की बोले-40,000 से अधिक सैनिकों को खो सकता है रूस

इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा है कि रूस जून के अंत तक 40,000 से अधिक सैनिकों को खो सकता है. रविवार को एक वीडियो संबोधन में, राष्ट्रपति ने कहा, ‘रूसी सेना डोनबास में रिजर्व सैनिकों को तैनात करने की कोशिश कर रही है, लेकिन वे अभी किस रिजर्व की बात कर सकते हैं?’

जेलेंस्की ने कहा, ‘जून में रूसी नुकसान 40,000 सैन्य कर्मियों से अधिक हो सकता है. उन्होंने कई दशकों में किसी भी युद्ध में इतने सैनिकों को नहीं खोया है.’ जेलेंस्की ने कहा कि वर्तमान में दो युद्धरत राष्ट्रों के बीच सबसे भयंकर लड़ाई डोनबास में अलगाववादी लुहान्स्क क्षेत्र के एक शहर सिविएरोडोनेट्सक में हो रही है.

यूक्रेनी भूमि के हर इंच के लिए लड़ेंगे

जेलेंस्की ने कहा, ‘यूक्रेनी रक्षा बल यूक्रेनी भूमि के हर इंच के लिए लड़ रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि रूसी सेना भी लिसिचन्स्क, बखमुट और स्लोवियास्क पर आगे बढ़ रही है.

यूक्रेन के पिकनिक स्पॉट पर सामूहिक कब्रें मिली, जेलेंस्की को यूरोप से मदद की आस

इस बीच, लुहांस्क क्षेत्र के सैन्य प्रशासन ने कहा कि रूसी सेना रविवार के दौरान लिसिचांस्क और सिविएरोडोनेट्सक पर लगातार गोलीबारी कर रही है. रूसी गोलाबारी के परिणामस्वरूप एक छह साल के बच्चे की मौत हो गई है.

Tags: America, Joe Biden, Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments