Homeअंतरराष्ट्रीयपूर्वी हिस्से में कब्जा करने के लिए रूस ज्यादा घातक हथियारों का...

पूर्वी हिस्से में कब्जा करने के लिए रूस ज्यादा घातक हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है: यूक्रेन


कीव: यूक्रेन (Ukraine) और ब्रिटेन के अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि पूर्वी यूक्रेन पर कब्जा करने के प्रयास में रूस की सेना बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाने के लिए ज्यादा घातक हथियारों का इस्तेमाल कर रही है. वहीं, भीषण लड़ाई की वजह से दोनों पक्षों के पास सैन्य साजो सामान भी घटते जा रहे हैं.

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूसी सैनिक यूक्रेन में 1960 के दशक की जहाज-रोधी भारी मिसाइल दाग रहे हैं. केएच-22 मिसाइल को मुख्य रूप से परमाणु हथियार का इस्तेमाल करके विमान वाहक जहाज को नष्ट करने के लिए डिजाइन किया गया था.

मंत्रालय ने कहा कि जब पारंपरिक हथियारों के साथ जमीनी हमलों में ऐसी मिसाइल का इस्तेमाल किया जाता है, तो हताहतों की संख्या बढ़ती है और काफी नुकसान होता है.

रूस के पास आधुनिक मिसाइल की कमी है
ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूस शायद 6.1 टन भार वाली जहाज रोधी मिसाइल का इस्तेमाल कर रहा है क्योंकि उसके पास अधिक सटीक आधुनिक मिसाइल की कमी है. मंत्रालय ने यह नहीं बताया कि रूस ने यूक्रेन में किन-किन जगहों पर इन हथियारों का इस्तेमाल किया.

यूक्रेन के सैन्य खुफिया विभाग के उप प्रमुख वादिम स्किबित्सकी ने ‘द गार्जियन’ अखबार को बताया कि यूक्रेन एक दिन में तोप के 5,000 से 6,000 गोलों का इस्तेमाल कर रहा है और अब वह पश्चिमी देशों से मिलने वाले हथियारों पर निर्भर है.

आग लगाने वाले हथियारों का रूस कर रहा इस्तेमाल
लुहांस्क के गवर्नर सेरही हैदई ने रूस पर यूक्रेन के पूर्वी क्षेत्र के वरुबिवका गांव में आग लगाने वाले हथियारों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. हैदई ने कहा कि युद्ध में इस तरह के हथियारों का इस्तेमाल होता रहा है लेकिन इससे भारी संख्या में नागरिक हताहत हुए हैं.

हैदई ने शनिवार सुबह सोशल मीडिया टेलीग्राम पर लिखा, ‘‘पोपासन्यांसका जिले के वरुबिवका गांव में हताहत हुए लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है.’’

उन्होंने यह भी कहा कि रूसी सेना सिविएरोदोनेत्सक पर लगातार हमले कर रही है और उसने रेलवे डिपो, ईंट भट्ठों को तबाह कर दिया. लिसिचांस्क में कांच के कारखाने सहित महत्वपूर्ण औद्योगिक इकाईयों पर भी बमबारी हुई है.

यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से मुलाकात के लिए शनिवार को कीव का दौरा किया. लेयेन ने कहा कि वह ‘‘पुनर्निर्माण के लिए आवश्यक संयुक्त कार्य’’ को लेकर चर्चा करेंगी.

यूरोपीय संघ (ईयू) की कार्यकारी इकाई यूरोपीय आयोग ईयू की सदस्यता के लिए यूक्रेन के अनुरोध पर अगले सप्ताह विचार-विमर्श करेगा. रूस के हमले के बाद से लेयेन का यूक्रेन का यह दूसरा दौरा है.

Tags: Britain, Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments