Homeअंतरराष्ट्रीययूक्रेन से लूटा 5 लाख टन गेहूं अफ्रीकी देशों को बेच रहा...

यूक्रेन से लूटा 5 लाख टन गेहूं अफ्रीकी देशों को बेच रहा रूस, पढ़ें जंग के अपडेट्स


Russia-Ukraine War Update: रूस-यूक्रेन जंग को 100 से ज्यादा दिन हो गए हैं. इसी बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि अगर पश्चिमी देश यूक्रेन को लॉन्ग रेंज की मिसाइलें मुहैया कराते हैं, तो रूस नए ठिकानों पर हमला करेगा. इस बीच रूस पर गेहूं चोरी के आरोप भी लगे हैं. यूक्रेन का दावा है कि रूस ने बमबारी कर और अन्य तरीकों से गेहूं देश से बाहर नहीं निकलने दिया. उसने यूक्रेन का पांच लाख टन गेहूं (कीमत 778 करोड़ रुपये) लूट लिया और ट्रकों में लादकर अपने कब्जे वाले क्रीमिया भिजवा दिया. बाद में इसे अफ्रीकी देशों को बेच दिया.

इससे पहले अमेरिका ने चेतावनी के साथ तीन रूसी मालवाहकों के नाम जारी किए हैं, लेकिन उसका खुद मानना है, यूक्रेन पर हमला मामले में पहले ही खुद को शक्तिशाली पश्चिमी देशों और रूस के बीच फंसा महसूस कर रहे अफ्रीकी देश उचित प्रतिरोध नहीं कर पाएंगे.

इसके साथ ही आइए जानते हैं यूक्रेन जंग के बड़े अपडेट्स…

अमेरिका की इस चेतावनी के बाद यूक्रेनी अधिकारियों ने रूस पर गेहूं चुराने के आरोप को दोहराना शुरू कर दिया है. शुक्रवार को ही अफ्रीकी यूनियन प्रमुख सेनेगल के मेकी साल ने मॉस्को में राष्ट्रपति पुतिन से मिलकर खाद और अनाज उपलब्ध कराने की मांग की थी.

रूस द्वारा यूक्रेन की मदद करने वाले पश्चिमी देशों को चेतावनी देने के तुरंत बाद कीव पर हमले कर दिए. रूसी सेना ने कई दिनों बाद कीव पर मिसाइल हमले किए जिनमें रेलवे का बुनियादी ढांचा भी शामिल था.

उधर, यूक्रेन के शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि रूसी सेना ने दोनेस्क क्षेत्र में अब तक 43 धार्मिक इमारतों को नष्ट कर दिया है. इनमें अधिकांश इमारतें मॉस्को के यूक्रेनी ऑर्थोडक्स (रूढ़िवादी) चर्च से संबंधित हैं.

‘कीव इंडिपेंडेंट’ अखबार ने दोनेस्क ओब्लास्ट सैन्य प्रशासन के प्रमुख पावलो किरिलेंको के हवाले से बताया कि स्वियातोहिर्स्क लावरा नामक धार्मिक इमारत का आल-होली स्केट (आश्रय स्थल) गोलाबारी में नष्ट हो गया. यह पहली धार्मिक इमारत नहीं जिसे रूसियों ने नष्ट किया.

इस गोलाबारी में चार मौतें हो गईं. रूस ने अब तक क्षेत्र की 43 धार्मिक इमारतें नष्ट की हैं. रविवार देर रात दोनेस्क में हाली डार्मिशन को भी अपनी चपेट में ले लिया.

रूस ने यूक्रेन के लिए पश्चिमी सैन्य आपूर्ति पर निशाना साधते हुए कीव पर हवाई हमले किए. रूस का दावा है कि यहां विदेशों से दान किए गए टैंक थे जिन्हें नष्ट कर दिया गया है. यूक्रेन ने कहा, रूस ने कीव स्थित एक ट्रेन मरम्मत यार्ड पर भी बमबारी की.

रूसी राष्ट्रपति की पश्चिमी देशों को दी गई धमकी के बावजूद ब्रिटेन ने कहा है कि वह यूक्रेन को लंबी दूरी की मिसाइल प्रणाली भेजेगा. ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने पुतिन की चेतावनी को दरकिनार कर यूक्रेन को एम-270 लांचर देने का ऐलान किया है जो 80 किमी तक निशाना साध सकते हैं.

यूक्रेन के पूर्वी दोनबास इलाके में भीषण लड़ाई के दौरान रूस के एक और जनरल मेजर जनरल रोमन कुटुजोव की मौत हो गई. रूस के राजकीय मीडिया रोसिया1 के रिपोर्टर एलेक्जेंडर स्लादकोव ने भी इसकी पुष्टि की है. जनरल कुटुजोव स्वयंभू दोनेस्क पीपुल्स गणराज्य की ओर से हमले का नेतृत्व कर रहे थे.

100 से ज्यादा दिनों से चल रही जंग के बीच यूक्रेन के लोग खौफ के साए में हैं. यूक्रेन के पूर्वी शहर ड्रूज्किवका के बाहरी इलाके में एक मिसाइल गिरी. इसने कई घरों और चर्च को काफी नुकसान पहुंचाया. हमले के बाद लोग अपने घरों और चर्च का मलबा साफ करने में जुट गए.



रूस हमले की वजह से अब तक तक लगभग 1.40 करोड़ यूक्रेनी नागरिकों को अपना घर छोड़ कर पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा है. दूसरी तरफ 30 लाख से ज्यादा बच्चों की पढ़ाई बीच में ही रुक गई है. यूक्रेनी का दावा है कि अब रूस के 31 से ज्यादा सैनिकों की मौत हो चुकी है. वहीं 1376 रूसी टैंक और 210 से ज्यादा प्लेन तबाह हो चुके हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : June 07, 2022, 10:10 IST

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments