Homeअंतरराष्ट्रीयरूस-यूक्रेन के बीच आमने-सामने की भीषण लड़ाई, जेलेंस्की ने कहा इससे डोनाबास...

रूस-यूक्रेन के बीच आमने-सामने की भीषण लड़ाई, जेलेंस्की ने कहा इससे डोनाबास के भाग्य का फैसला होगा


बाकमट (यूक्रेन). रूस के सैनिकों ने गुरुवार को यूक्रेन के पूर्वी शहर में गोले दागे और सड़कों पर दोनों सेनाओं के बीच जबरस्त लड़ाई हुई. वहीं, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा है कि यह लड़ाई डोनबास क्षेत्र के भविष्य का फैसला करेगी. इस बीच, रूस ने दावा किया कि उसने यूक्रेन की राजधानी कीव के पश्चिम में लड़ाई वाले स्थल से दूर एक सैन्य प्रशिक्षण केंद्र पर हमला किया. तीन महीने से ज्यादा समय से जारी युद्ध में कई नाकामियों के मद्देनजर रूस औद्योगिक डोनबास क्षेत्र की कोयला खदानों और कारखानों पर नियंत्रण करना चाहता है. इस क्षेत्र में रूस समर्थित अलगाववादी वर्षों से यूक्रेन के सैनिकों से लड़ रहे हैं.

लुहांस्क में भयंकर लड़ाई
अन्य क्षेत्रों में रूसी सैनिकों को अपेक्षित सफलता नहीं मिल पाई है और सिविरोदोनेत्सक क्षेत्र में भी उसे यूक्रेन के सैनिकों के कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ा है. लुहांस्क के गवर्नर सेरही हैदई ने ‘एसोसिएटेड प्रेस’ को बताया, ‘‘शहर में भयंकर लड़ाई जारी है. यूक्रेन की सेना हर सड़क और घर के लिए लड़ रही है.’’ वहीं, रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उसने कीव के पश्चिम में जितोमिर क्षेत्र में यूक्रेन के एक सैन्य अड्डे के खिलाफ मिसाइलों का इस्तेमाल किया. मंत्रालय ने आरोप लगाया कि वहां भाड़े के सैनिकों को प्रशिक्षित किया जा रहा था. रूस के दावों पर यूक्रेन की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

डोनबास के भाग्य का फैसला
रूस कई बार यूक्रेन पर लड़ाई में भाड़े के सैनिकों का इस्तेमाल करने का आरोप लगा चुका है. विदेशियों ने यूक्रेन की नियमित सेना के हिस्से के रूप में लड़ाई लड़ी है और कुछ स्वयंसेवक सैन्य ब्रिगेड में शामिल हुए हैं लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि वे भाड़े के सैनिक हैं या नहीं. जितोमिर क्षेत्र को पहले भी कई बार निशाना बनाया गया है लेकिन लड़ाई मुख्य रूप से यूक्रेन के पूर्वी क्षेत्र में केंद्रित है. जेलेंस्की ने बुधवार को अपने सैनिकों से डोनबास में लड़ाई के केंद्र सिविरोदोनेत्सक क्षेत्र की रक्षा के लिए हर मुमकिन प्रयास करने को कहा. जेलेंस्की ने बुधवार रात वीडियो संबोधन में कहा, कई मायनों में, वहां हमारे डोनबास के भाग्य का फैसला किया जा रहा है.

21 हजारों लोगों की मौत
जेलेंस्की के सलाहकार ओलेकसई एरीस्तोविच ने कहा है कि रूसी सैनिकों ने लिसिचांस्क शहर पर भी लगातार बमबारी की है. उन्होंने कहा कि लिसिचांस्क और बाकमत को दक्षिण-पश्चिम से जोड़ने वाली सड़क का संपर्क खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है. वहीं, मारियुपोल में एक जमींदोज इमारत के मलबे से 100 शव निकाले गए. कई सप्ताह की लड़ाई के बाद मारियुपोल पर रूस ने पिछले दिनों कब्जा कर लिया था. मारियुपोल के मेयर के सहायक पेत्रो आंद्रयुचेनको ने टेलीग्राम ऐप पर कहा कि शव मुर्दाघर में रखने या दफनाने के लिए ले जाए गए हैं. यूक्रेन के अधिकारियों का अनुमान है कि कई हफ्तों तक रूस की घेराबंदी में इस शहर में 21,000 लोगों की मौत हुई.

Tags: Russia, Ukraine

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments