Homeछत्तीसगढरेन वॉटर हार्वेस्टिंग के सत्यापन के बाद ही पास होगा बिल्डिंग का...

रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के सत्यापन के बाद ही पास होगा बिल्डिंग का ले-आउट, कम कीमत पर मिलेंगे मकान


रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग पहले से अनिवार्य है, लेकिन नगर निगम द्वारा अब इसे लेकर सख्ती बरती जाएगी. रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के सत्यापन के बिना किसी भी कॉलोनी का ले-आउट पास नहीं होगा. नगर पालिक निगम मुख्यालय में हुई एमआईसी की बैठक में ये फैसला लिया गया है. इसके अलावा कई महत्वपूर्ण फैसले बैठक में लिये गये हैं. एमआईसी की बैठक में लगभग 42 प्रस्तावों पर चर्चा हुई, जिसमें से 2 प्रस्ताव रोके गए हैं. जबकि अन्य प्रस्ताव सर्व सहमति से पास कर दिए गए.

एमआईसी की बैठक में कर्मचारियों की संविदा नियुक्ती, मेडिकल बिल, सड़क चौरहों के नामकरण के अलावा जो प्रमख मुद्दे प्रस्ताव पर चर्चा हुई, उनमें हाउसिंग बोर्ड कबीर नगर कालोनी का हस्तातंरण का रहा. इस प्रस्ताव को मेयर इन काउसिंल के सदस्यों ने खारिज कर दिया. महापौर एजाज ढेबर ने कहा कि हालांकि यह निर्णय कैबिनेट में पास हो चुका है, लेकिन हाउसिंग बोर्ड कालोनियों की हालत बहुत खस्ताहाल है. नगर निगम इन्हें लेता है तो निगम का काफी आर्थिक बोझ बढ़ेगा. कालोनी की हालत सुधारने लगभग 6 करोड़ रुपए खर्च होंगे. ऐसे में अगर हाउसिंग बोर्ड या शासन से यह राशी मिलती है तो ही नगर निगम इस कालोनी का हस्तातंरण ले पाएगा.

संविदा नियुक्ति का प्रस्ताव खारिज
एमआईसी की बैठक में नजूल विभाग के मूलचंद ओझा की संविदा नियुक्ति का प्रस्ताव खारिज कर दिया गया .अन्य प्रमुख मुद्दे में – केके रोड से स्टेशन रोड को जोड़ने वाली नहर पारा सड़का का था. 100 फीट से ज्यादा चौड़ी इस सड़क का मुहाने का हिस्सा दो दुकानों के कारण 15 फीट रह गया था. मुआवजे के कारण चौड़ीकरण सौ से अटका था. इस विवाद को निपटा कर इसे मेयर इन काउसिंल में पास किया गया है. अब चौड़ीकरण से 2 लाख से ज्यादा लोगों को ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी. तीसरा प्रमुख मुद्दा जल संरक्षण को लेकर हुआ. महापौर ने बताया कि अब मकान या कालोनी का नक्शा या ले-आउट तभी पास होगा जब संपत्ति का मालिक वाटर हार्वेस्टिंग के खुदाई करने उसका सत्यापन करवाएगा.

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार अब गोल बाजार में काबिज दुकानदारों से विकास शुल्क निर्माण शुल्क नहीं लिए जाने का प्रस्ताव पारित किया गया. राजस्व बढ़ाने के साथ-साथ किराए में रहे रहे लोगों को मकान मालिक बनाने अब ईडब्ल्यूएस मकान कम कीमत पर दिए जाएंगे. नगर निगम बोरियाकला के लगभग 1700 से ज्यादा मकान वहां रहे लोगों को साथ ही निविदा के माध्यम से आम लोगों को सवा लाख रुपए में बेचेगा. आनंद नगर और गुरु गोविंद सिंह वार्ड समेत 5 से ज्यादा वार्डों को जलभराव से बचाने शंकर नगर गोरखा कालोनी से दुर्गा मैदान, गुरु गोविंद सिंह वार्ड, लाल बहादुर शास्त्री वार्ड में नाला निर्माण का प्रस्ताव पास किया गया.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments