HomeBREAKING NEWSसिक्के बेचने से मिले हैं करोड़ों, इस जानकारी पर ग्रामीण के घर...

सिक्के बेचने से मिले हैं करोड़ों, इस जानकारी पर ग्रामीण के घर डकैती, मिले केवल 30 हजार

सिक्के बेचने से मिले हैं करोड़ों, इस जानकारी पर ग्रामीण के घर डकैती, मिले केवल 30 हजार

जगदलपुर ऑफिस डेस्क : घर में करोड़ों रुपये के पुराने सिक्के होने के संदेह में बीते चार व पांच जून की दरमियानी रात बडांजी थाना के ग्राम घाटधनोरा में बलदेव बघेल के घर डकैती हो गई।

सिक्के बेचने से मिले हैं करोड़ों, इस जानकारी पर ग्रामीण के घर डकैती, मिले केवल 30 हजार

डकैतों के हाथ में यहां से 30 हजार रुपये एवं दो नग मोबाइल लगे। डकैती की इस घटना को लेकर पुलिस सक्रिय हो गई। गुरूवार को जिले के अलग-अलग ठिकानों से नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से नकदी समेत कार और दोपहिया वाहन भी बरामद किए गए हैं।

एएसपी ओपी शर्मा ने बताया कि आरोपित धनुर्जय बघेल निवासी सालेमेटा को पता चला था कि प्रार्थी बलदेव बघेल के पास पुराना सिक्का बेचने से करोड़ों रुपये आए हैं।

इस धनराशि को उन्होंने अपने घर में गाड़कर रखा है। धनुर्जय ने मामले के मुख्य आरोपी दीगम कश्यप निवासी को इसकी जानकारी दी। दीगम कश्यप के साथ मिलकर लखमु कश्यप, रामेश्वर पाण्डेय, लेबोराम भारती, वासुदेव ठाकुर, राजेश बघेल, धनुर्जय बघेल, लख्खुराम कश्यप, सुखराम ठाकुर एवं उडीसा के कुछ व्यक्तियांे ने बलदेव बघेल के घर में डकैती डाली।

चार जून को सभी आरोपी दो और चार पहिया वाहन से रात करीब 12 बजे ग्राम टाकरागुडा में इकठ्ठा हुए। बलदेव के घर में पहुंचकर घर की घेराबंदी कर घर के संदूक से तीस हजार रुपये नकद और दो मोबाइल की डकैती करने के बाद ये फरार हो गए। डकैती से प्राप्त राशि को इन्होंने आपस में बांट लिया गया।

प्रकरण में निरीक्षक तामेश्वर चौहान, राजेश मरई, धनंजय सिन्हा, एमन साहू एवं उप निरीक्षक अरूण नामदेव के नेतृत्व में संदेह के आधार पर दीगम कश्यप निवासी तालुर, वासुदेव ठाकुर निवासी कुदालगांव की पहचान की गई और इन्हें हिरासत में लिया गया।

इनसे पूछताछ करने पर उनके द्वारा कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से ग्राम घाटधनोरा में डकैती करना स्वीकार किया गया। उनकी शिनाख्त पर अन्य आरोपितों को भी कुदालगांव, तालुर, टाकरागुडा, सालेमेटा, दुबेउमरगांव, देउरगांव और इच्छापुर एवं आसपास के क्षेत्रों से गिरफ्तार कर लिया गया।

मामले से जुड़े कुछ अन्य संदेहियों की भी तलाश जारी है। आरोपितों से एक बोलेरो, एक कार, चार नग मोटरसायकल, दो मोबाइल व नकद पांच हजार 300 रुपये बरामद किया गया है।

इनकी रही अहम भूमिका

स्मृतिक राजनाला प्रशिक्षु आइपीएस, पंकज ठाकुर, घनश्याम कामड़े समेत निरीक्षक तामेश्वर चौहान, राजेश मरई, धनंजय सिन्हा, एमन साहू, सुरित सारथी, केसरीनंदन साहू।

उप निरीक्षक अरुण नामदेव, अमित सिदार, विष्णु यादव, कृष्ण साहू, प्रमोद ठाकुर, रनेश सेठिया सहायक उप निरीक्षक धर्नुधारी सिंह, सुमन ठाकुर, सतीश युदराज, इंदु शर्मा, आरक्षक रवि कुमार, भीसम सिंह ठाकुर, प्रदीप शुक्ला, गौतम सिन्हा, प्रकाश नायक, भुवन शार्दुल, कोमल कतलम, गोबरु कश्यप।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments