Homeछत्तीसगढ5 दिन तक बोरवेल में सांप और मेढक भी थे राहुल के...

5 दिन तक बोरवेल में सांप और मेढक भी थे राहुल के साथ, अब आईसीयू में चल रहा इलाज, जानें- हेल्थ अपडेट


रायपुर. छत्तीसगढ़ के जांजगीर में पांच दिन तक लगातार चला सबसे बड़े रेस्क्यू ऑपरेशन सफलता पूर्वक समाप्त हुआ. 60 फीट नीचे बोरवेल में गिरे 11 वर्षीय दिव्यांग बच्चे राहुल साहू को मंगलवार की रात करीब पौने 12 बजे बोरवेल तक पहुंचने के लिए बने सुरंग से बाहर निकाल लिया गया. इसके बाद ग्रीन कॉरिडोर बनाकर जांजगीर से बिलासपुर के अपोलो अस्पताल भेजा गया. मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात करीब पौने 3 बजे राहुल को 108 एंबुलेंस के जरिए अस्पताल पहुंचा गया. रास्ते में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम राहुल को स्वास्थ्य सुविधाएं देती रहीं.

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक राहुल की स्थिति अभी स्थिर है. एम्बुलेंस के डाक्टर ने बताया कि प्राथमिक जांच में बीपी, शुगर, हार्ट रेट नॉर्मल है और फेफड़े भी क्लियर हैं. रात करीब तीन बजे सीएमओ छत्तीसगढ़ द्वारा एक ट्वीट कर बताया गया कि ”राहुल कुशल हाथों में पहुंच गया है. कुछ देर पहले एम्बुलेंस उसे लेकर बिलासपुर जिले के अपोलो अस्पताल पहुंच चुकी है. विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम की निगरानी में उसे फिलहाल आई सी यू में रखा गया है.” मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार की सुबह 10 बजे के बाद राहुल साहू का पहला मेडिकल बुलेटिन जारी किया जा सकता है. बिलासपुर अपोलो के जनसमर्क अधिकारी देवेश गोपाल के मुताबिक राहुल को आईसीयू में भर्ती है. अभी राहुल की हालत ठीक है.

सांप और मेंढक भी थे साथ
बता दें कि जांजगीर जिले के पिरहीद गांव में बीते 10 जून की दोपहर करीब 3 बजे 11 वर्षीय दिव्यांग राहुल साहू खुले बोरवेल में गिर गया था. इसके बाद एसडीआरएफ व स्थानीय पुलिस-प्रशासन की टीम ने राहुल को सकुशल बाहर निकालने के लिए ऑपरेशन सेव राहुल शुरू किया. मुक-बधीर और मानसिक रूप से दिव्यांग होने के कारण राहुल रेस्क्यू टीम के संकेतों को समझ नहीं पा रहा था. इस रेस्क्यू ऑपरेशन से एनडीआरएफ, सेना की टीम भी जुड़ी. करीब 105 घंटे तक लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा. रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा होने के बाद जांजगीर के कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला ने बताया कि हम काफी परेशान थे. क्योंकि राहुल की मॉनिटिरंग के लिए बोरवेल में डाले गए कैमरे में सांप भी नजर आ रहा था. रेस्क्यू के दौरान सांप और मेढक भी राहुल के साथ नजर आए. लेकिन राहुल की जीवटता का ही नतीजा है कि उसे सकुशल बाहर निकाला जा सका.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments