HomeBREAKING NEWSलापरवाही पड़ी भारी : मोमोज गले में फंसने के कारण व्यक्ति की...

लापरवाही पड़ी भारी : मोमोज गले में फंसने के कारण व्यक्ति की हुई मौत, डॉक्टरों ने चेतावनी देते हुए बताया खाने का सही तरीका

लापरवाही पड़ी भारी: मोमोज गले में फंसने के कारण व्यक्ति की हुई मौत, डॉक्टरों ने चेतावनी देते हुए बताया खाने का सही तरीका

OFFICE DESK NEW DELHI : किसी भी खाने को जल्दबाजी में खाना, निगलना या लापरवाही बरतना जान पर भारी पड़ सकता है. ऐसा ही मामला सामने आया है

दिल्ली में. यहां एक व्यक्ति के गले में मोमोज फंसने के कारण उसकी जान चली गई. एम्स दिल्ली ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पाया गया कि एक आदमी के गले में मोमोज फंस गया और उसकी जान चली गई.

एम्स के फॉरेंसिक विभाग के एचओडी डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने कहा कि लोगों के लिए ये केस एक सबक है कि किस तरह से किसी भी चीज को खाना चाहिए.

उन्होंने कहा कि मोमोज को कभी भी निगलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए, बल्कि इसे हमेशा चबाकर ही खाना चाहिए, वरना यह खतरनाक हो सकता है.

मोमोज को हमेशा चबाकर खाना चाहिए, निगलने की कोशिश हो सकती है खतरनाक

डॉ सुधीर गुप्ता ने कहा कि मोमोज मैदे का बना होता है और निगलने की स्थिति में यह सांस की नली में फंस सकता है, हालांकि यह बहुत रेयर मामला है. मोमोज खाते वक्त लोगों को सतर्कता बरतनी चाहिए.

MOMOS

नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने पोस्टमॉर्टम के बाद देश में ऐसे पहले मामले का खुलासा किया है.

डॉक्टरों के अनुसार, एम्स के नजदीक दक्षिणी दिल्ली स्थित रेस्तरां में बीते दिनों 50 वर्षीय व्यक्ति मोमोज खा रहा था. अचानक से वह जमीन पर गिरा और उसकी मौत हो गई.

एम्स में पोस्टमॉर्टम कंप्यूटेड टोमोग्राफी में उसके गले में मोमोज फंसा मिला. पेट में अल्कोहल भी था. आशंका है कि वह मोमोज खाते वक्त नशे में होगा. वहीं डॉक्टर सुधीर ने कहा कि किसी भी खाने को आराम से और धीरे-धीरे चबाते हुए खाना चाहिए.

डेड बॉडी का किया गया सीटी स्कैन

वहीं डॉ अभिषेक यादव ने बताया कि पोस्टमॉर्टम में मृतक के विंड पाइप के बिलकुल शुरू में पकौड़ी जैसा पदार्थ दिखा, वह मोमोज था. जब डॉक्टरों ने पोस्टमॉर्टम के दौरान डेडबॉडी की सीटी स्कैन जांच की, तो पाया

कि गले में सांस की नली के पास मोमोज फंसा हुआ है, जिसकी वजह से व्यक्ति को सांस नहीं मिली होगी और उसकी मौत हो गई. मोमोज का साइज 5×3 सेमी का था. उन्होंने कहा कि विश्व में 12 लाख में से एक मौत भोजन के दौरान श्वास अवरोध से होती है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments