HomeBREAKING NEWSराजीव भवन में पार्टी ध्वजारोहण के साथ हुआ जिला स्तरीय कांग्रेस के...

राजीव भवन में पार्टी ध्वजारोहण के साथ हुआ जिला स्तरीय कांग्रेस के नव संकल्प शिविर का आयोजन

राजीव भवन में पार्टी ध्वजारोहण के साथ हुआ जिला स्तरीय कांग्रेस के नव संकल्प शिविर का आयोजन

OFFICE DESK JAGDALPUR : प्रभारी मंत्री लखमा ने भाजपा के खिलाफ हुंकार भरते कहा कि भाजपा देश को बांटने का राजनीति कर रही है कांग्रेस में 50% युवाओं को मिलेगा मौका 1960 और 1970 के दशक में कांग्रेस ने देश में हरित क्रांति का सूत्रपात किया

भारत की संप्रभुता को चुनौती देने वाली ताकतों के दांत खट्टे किए, कांग्रेस ने 70 साल में जो किया वह इतिहास के पन्ने में दर्ज है जो कार्य कांग्रेस ने किया वह भविष्य में कोई नही कर सकता.

शहर प्रभारी डॉ. प्रीति नेताम ने कहा कि जहां जहां चुनाव होते है, डराकर, धमकाकर, लालच देकर वहां के नेताओ को तोड़ने का प्रयास भाजपा की पुरानी कार्यशैली रही है.
जिलाध्यक्ष राजीव शर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 1390 मंडलों का गठन किया जाएगा. हर महीने मंडल समिति, ब्लॉक कमेटी, जिला कमेटी की मीटिंग होगी, मंडल स्तर पर कमेटी का गठन किया जाएगा, 30 बूथ पर एक मंडल का गठन होगा, कांग्रेस के जमीनी कार्यकर्ता ही पार्टी की असली ताकत, देश के शोषितों, वंचितों, पिछड़ों,गरीबों व अल्पसंख्यकों के साथ षड्यंत्रकारी अन्याय व भेदभाव पर विस्तृत चिंतन किया तथा इन समूहों की आवाज में मांग कांग्रेस संगठन के माध्यम से देश भर में उठाने का संकल्प दिलाया.


संसदीय सचिव/विधायक रेखचन्द जैन ने कहा कि जिला स्तरीय नव संकल्प शिविर में जो चर्चा हुई उस पर इम्प्लीमेंट किया जायेगा शिविर में उदयपुर में लाए गए संकल्पों को पारित किया गया दिल्ली में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो देशहित व जनहित में बहोत कारगर साबित होगी.


महापौर सफिरा साहू ने कहा कि एक दिवसीय शिविर के माध्यम से चिंतन मनन किया गया तथा पदयात्रा के माध्यम से लोगों को कांग्रेस पार्टी के सिद्धांत से परिचय कराया जाएगा. विधानसभा जिला स्तर प्रदेश स्तर पर पदयात्रा किया जाएगा. बहुत अच्छा वातावरण में सभी साथियों से चर्चा हुई.
यशवर्धन राव ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर ईडी के नोटिस पर कहा कि उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर से भारतीय जनता पार्टी घबराई हुई है, लेकिन हम डरेंगे नहीं और झुकेंगे नहीं.
नव संकल्प शिविर बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी शहर के जिला स्तरीय नव संकल्प शिविर में बस्तर के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा , शहर प्रभारी मान. सुश्री डॉ प्रीति नेताम , जिलाध्यक्ष राजीव शर्मा , संसदीय सचिव/विधायक  रेखचंद जैन, क्रेडा अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार महापौर श्रीमति सफीरा साहू की गरिमामय उपस्थिति में पार्टी का ध्वजारोहण किया व महात्मा गांधी के छाया चित्र पर माल्यार्पण कर राज्य गीत के साथ शिविर सम्पन्न किया गया।
जिला स्तरीय नव संकल्प शिविर में उपस्थित पार्टी के प्रमुख वक्ताओं ने कार्यक्रम के दौरान उदयपुर राजस्थान में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा आयोजित नव संकल्प शिविर “भारत जोड़ो” अभियान को विस्तार पूर्वक बताया गया,
आगामी आम चुनाव के लिए रणनीतियों के साथ-साथ सभी पदाधिकारियों ने तथा संगठन के मध्य समन्वय के साथ संगठन की मजबूती एवं शासन की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का संकल्प लिया व अपनी बातें रखी, देश प्रेम और बलिदान की भावना से ओत-प्रोत आजादी के आंदोलन का आधार था सबके लिए न्याय।
करोड़ो कांग्रेसियों ने स्वतंत्रता संग्राम में जेल की अमानवीय यातनाएं सही,व भारत मां की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया। सन 1885 से 1947 तक के 62 वर्षों के लंबे संघर्ष के बाद स्वतंत्रता आंदोलन की यह क्रांति भारत की आजादी के रूप में परिणित हुई।
न्याय संघर्ष त्याग और बलिदान इस परिपाटी ने आजादी के बाद अगले 70 वर्षों तक भारत की एकता, अखंडता, प्रगति और उन्नति का रास्ता प्रशस्त किया। मौजूदा विभाजनकारी वातावरण में आम जनमानस को धार्मिक व जाति बंटवारे के जाल में उलझा कर चुनावी हित साधने की राजनीतिक चिंतन का विषय है।
संगठन व जमीनी कांग्रेसी कार्यकर्ता ही पार्टी की असली ताकत है।
सन 1947 में भारत को राजनीतिक आजादी तो हासिल हो गई पर देश के सामने अनगिनत चुनौतियां थी न पर्याप्त अनाज पैदा होता था न उद्योग धंधे थे न सुई तक बनाने के कारखाने थे
न स्वास्थ्य सुविधाएं थी न शैक्षणिक संस्थाएं थे न सिंचाई की सुविधा थी न पर्याप्त बिजली का उत्पादन था न यातायात और संचार के साधन थे न देश की सुरक्षा का पूर्ण इंतजाम। देश को सैकड़ों रियासतों की सामंतशाही से मुक्त करा एक सूत्र में पिरोना ही अपने आप में एक बड़ी जिम्मेदारी थी
अर्थात भारत की आजादी के साथ उस समय के अविकसित भारत में चुनौतियों का अंबार भी हमें मिला, जिसे कांग्रेस नेतृत्व के दृढ़ संकल्प ने अवसर में तब्दील कर दिया। एक मजबूत शांतिप्रिय समावेशी और प्रगतिशील भारत की बुनियाद रखी।
सन 1980 के दशक में एक बार फिर कांग्रेस ने 21वीं सदी के भारत की नीव रखी, एक तरफ दूरसंचार क्रांति का उदय हुआ तो दूसरी तरफ पंचायती राज और शहरी स्थानीय निकाय संस्थाओं को संवैधानिक दर्जा देकर सत्ता का विकेंद्रीकरण किया कंप्यूटर व सूचना प्रौद्योगिकी क्रांति ने आधुनिक भारत के निर्माण में सबसे अहम भूमिका निभाई जिसके सुखद परिणाम आज भी देखने को मिल रहे हैं।
कई प्रकार के षड्यंत्रकारी ताकतों को अधिकार संपन्न भारत, सामाजिक सोहाद्र व समावेशी विकास रास नहीं आया तो दुष्प्रचार का एक कुचक्र रचकर नियोजित रुप से सत्ता अर्जित कर ली पर पिछले आठ वर्षों में जैसे देश की तरक्की, प्रगति, सामाजिक, सौहार्द्र, आकांक्षाओ व अपेक्षाओं को जानबूझकर गहरे अंधकार में ढकेल दिया गया,
तो कभी नोटबंदी के नाम पर देश के रोजगार व व्यवसाय पर हमला बोला गया तो कभी मनमानी जीएसटी से छोटे छोटे और मंझले उद्योगों को तालाबंदी की कगार पर ला खड़ा किया, कभी मन माने लॉकडाउन से लाखों करोड़ों देशवासियों को सड़कों पर दर्द बदर की ठोकरें खाने को मजबूर किया
तो कभी कोरोना की विभीषिका में सरकार की नाकामी के चलते लाखों लोगों को गंगा मैया और उसके तट भी अहंकारी शासकों को नजर नहीं आए। यही नहीं बीते 8 वर्षों में देश का नौजवान असहनीय बेरोजगारी का दंश झेल रहा है महंगाई की आग ने तो हर व्यक्ति और परिवार को झुलसाकर रख दिया है
घर के लिए एक गैस सिलेंडर खरीदना भी सपना हो गया है पेट्रोल-डीजल आटा खाने का तेल, दाल, सब्जी सहित रोजमर्रा के इस्तेमाल की सभी चीजों की आसमान छूती कीमतों ने देशवासियों की जिंदगी दुभर कर दी है बेरोजगारी और महंगाई अब देश के नागरिकों के लिए अभिशाप बन गई है कांग्रेस का मानना है
कि जनकल्याण की आर्थिक नीति का सही आधार हो सकता है भारत जैसे तरक्की सील देश में जन्म कल्याण नीतियों से आम जनमानस के लिए रोजगार सृजन व आय के साधन बढ़ाना अनिवार्य स्वाभाविक है भाजपा सरकार द्वारा 70 साल में बनाई गई सरकारी संपत्तियों व अंधाधुन निजीकरण अपने आप में खतरनाक है
यह और गंभीर हो जाता है जब भाजपा सरकार पब्लिक सेक्टर कंपनियों को बदनीयति से औने पौने दाम पर अपने चंद व चहेते  पूंजीपति मित्रों को बेच रही है न केवल दलितों, आदिवासीयों, पिछड़ो  का आरक्षण खत्म कर रही है बल्कि भारत की अर्थव्यवस्था पर कुछ लोगों का एकाधिकार स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस इस अंधाधुन निजी करण का घोर विरोध करेगी।
कार्यक्रम का संचालन महिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमति कमल झज्ज एवं आभार प्रदर्शन जिला कांग्रेस के महामंत्री अनवर खान द्वारा किया गया।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments