Homeअंतरराष्ट्रीयताइवान को टारगेट कर किया जा रहा चीन का सैन्य अभ्यास 'उकसावे'...

ताइवान को टारगेट कर किया जा रहा चीन का सैन्य अभ्यास ‘उकसावे’ की कार्रवाई: एंटोनी ब्लिंकन


हाइलाइट्स

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन भड़का हुआ है.
नैंसी पेलोसी पिछले 25 वर्षों में ताइवान की यात्रा करने वाली अमेरिका की सबसे शीर्ष अधिकारी हैं.
चीन ताइवान को अपना क्षेत्र बताता है और विदेशी सरकारों के साथ उसके संबंधों का विरोध करता है.

नोम पेन्ह. अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने शुक्रवार को कहा कि ताइवान को लक्षित करके चीन की ओर से किया जा रहा सैन्य अभ्यास और जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र में प्रक्षेपास्त्र छोड़ा जाना ‘अभिप्रायपूर्ण उकसावे’ का प्रतीक है और उन्होंने चीन से अपने कदम वापस खींचने का आग्रह किया. अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से खफा चीन ने सैन्य अभ्यास शुरू किया है. चीन स्वशासित द्वीप ताइवान को अपना हिस्सा होने का दावा करता है. ब्लिंकन ने कम्बोडिया में दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संघ (आसियान) की बैठक से इतर संवाददाताओं से कहा कि पेलोसी की यात्रा शांतिपूर्ण रही और यह ताइवान को लेकर अमेरिका की नीति में परिवर्तन का परिचायक नहीं है.

उन्होंने आरोप लगाया कि चीन इसे (यात्रा को) ‘ताइवान जलडमरूमध्य के आसपास उकसावे की सैन्य गतिविधियों को बढ़ावा देने के बहाने के तौर पर ले रहा है.’ उन्होंने कहा कि इसकी वजह से नोम पेन्ह में आयोजित पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन के दौरान ‘तल्ख संवाद’ हुआ. इस सम्मेलन में उनके और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के अलावा आसियान, रूस एवं अन्य देशों के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया.

ब्लिंकन ने कहा, ‘मैंने एक बार फिर यह स्पष्ट किया है कि हमने सार्वजनिक तौर पर और प्रत्यक्ष तौर पर चीनी विदेश मंत्री के साथ हाल के दिनों में कहा है कि उन्हें (पेलोसी की) यात्रा को युद्ध और उकसावे की कार्रवाई के तौर पर नहीं देखना चाहिए, क्योंकि उन्होंने जो कुछ किया है उसे न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता. मैंने इस तरह की (सैन्य) कार्रवाई समाप्त करने का आग्रह किया है.’

इस बीच, चीन ने ताइवान की यात्रा को लेकर पेलोसी पर अनिर्दिष्ट प्रतिबंध लगाये हैं. चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पेलोसी ने चीन की चिंताओं की परवाह नहीं की है. पेलोसी की यात्रा को लेकर चीन की आक्रामक प्रतिक्रिया के बावजूद ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका भी ‘इस क्षेत्र में अपने सहयोगियों की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता’ नहीं बदलेगा और रक्षा विभाग ने रोनाल्ड रीगन विमानवाहक पोत को ‘स्थिति की निगरानी के लिए सामान्य क्षेत्र में मौजूद रहने’ का निर्देश दिया है.

उन्होंने कहा, ‘हम उन जगहों पर हवाई और समुद्री मार्ग की यात्रा करते रहेंगे, जहां अंतरराष्ट्रीय कानून हमें इसकी इजाजत देता है. हम ताइवान जलडमरूमध्य से मानक विमान एवं समुद्री पारगमन जारी रखेंगे.’ पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान सम्मेलन कक्ष में घुसते ही वांग ने पहले से बैठे रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव का कंधा थपथपाया और अपनी सीट पर बैठने से पहले उनकी ओर हाथ भी हिलाये. ब्लिंकन सबसे अंत में पहुंचे और वह कुछ दूरी पर जाकर अपनी कुर्सी पर बैठ गये.

Tags: Antony Blinken, China, Taiwan

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments