HomeBREAKING NEWSहीराबेन को अंतिम विदाई : PM मोदी ने अपनी मां की अर्थी...

हीराबेन को अंतिम विदाई : PM मोदी ने अपनी मां की अर्थी को दिया कंधा

हीराबेन को अंतिम विदाई : PM मोदी ने अपनी मां की अर्थी को दिया कंधा

Heeraben Modi Passed Away : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी (Heeraben Modi) का शुक्रवार सुबह निधन हो गया. वे 100 साल की थीं.

हीराबेन ने अहमदाबाद के यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर में तड़के 3:30 बजे अंतिम सांस ली. PM मोदी सुबह 7:45 बजे अहमदाबाद पहुंचे. यहां से वे सीधे गांधीनगर के रायसण गांव में भाई पंकज मोदी के घर गए. उनके पहुंचते ही अंतिम यात्रा शुरू हुई. PM मोदी ने मां के पार्थिव शरीर को कंधा दिया.

हीराबेन के पार्थिव शरीर को शव वाहिनी से गांधीनगर के सेक्टर 30 स्थित श्मशान भूमि ले जाया जा रहा है. PM भी शव वाहन में ही बैठे हैं. उन्होंने मां के पार्थिव शरीर को कंधा दिया है. अंतिम यात्रा सेक्टर-30 स्थित श्मशान तक जाएगी.

अपनी मां के देहांत के बाद पीएम मोदी ने एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, “शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम. मां में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है.”

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने जताया शोक

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबा का सौ वर्षों का संघर्षपूर्ण जीवन भारतीय आदर्शों का प्रतीक है. मोदी ने ‘ की भावना और हीराबा के मूल्यों को अपने‌ जीवन में ढाला. मैं पुण्यात्मा की शांति के लिए प्रार्थना करती हूं. परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं!.

खरगे-प्रियंका समेत इन लोगों ने भी जताया दुख

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी के निधन पर शोक व्यक्त किया. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भी हीराबेन के निधन पर दुख जताया.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दी श्रद्धांजलि

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की माता जी के निधन पर गहन शोक संवेदना व्यक्त करता हूं. हीराबेन का संघर्षपूर्ण व सात्विक जीवन सदैव प्रेरणा है, जिनके वात्सल्य व सत्यनिष्ठा से देश को यशस्वी नेतृत्व मिला. मां का जाना अपूरणीय क्षति है, इस रिक्तता की पूर्ती असंभव है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: