Homeबस्तर संभागकोंडागांवआदिवासी महिलाओं की अनूठी पहल… पलास, गेंदा के साथ-साथ पालक, गाजर और...

आदिवासी महिलाओं की अनूठी पहल… पलास, गेंदा के साथ-साथ पालक, गाजर और लाल भाजी से बना रहीं हर्बल गुलाल…

आदिवासी महिलाओं की अनूठी पहल… पलास, गेंदा के साथ-साथ पालक, गाजर और लाल भाजी से बना रहीं हर्बल गुलाल…

कोंडागांव। ग्राम आलोर की मां शीतला स्व-सहायता समूह की आदिवासी महिलाएं पिछले तीन वर्षो से सब्जियों से हर्बल गुलाल तैयार कर रही है. घर और खेती के काम से बचने वाले समय में समूह की महिलाएं गुलाल बनाने का काम करती हैं.

समूह की महिलाएं सुशीला, सुमीत्रा, शियाबती, हेमबती, संगीता, विमला ने बताया कि हर्बल गुलाल बनाने के लिए पहले लाल भाजी को उबालते हैं. फिर उसके कलर से अरारोट को मिलाते है.

इसे सुखाने के बाद पाउडर तैयार कर छन्नी से छान लेते हैं. ऐसा ही पालक, गाजर और पलास के फूलों के जरिए हर्बल गुलाल बनाया जाता है. इन्होंने यह तरीका कृषि विज्ञान केन्द्र, कोंडागांव से सिखा है.

तीन साल से कर रही हैं काम

बड़े पैमान पर तैयार करने की योजना

समूह की महिलाओं का कहना था हम मात्र सब्जियों से गुलाल बनाते हैं, और इसके अलावा कोई कार्य नहीं करती. अब हम इसे लघु उ़द्योग बनाकर साल भर गुलाल बनाने का कोशिश करेंगी, जिससे हमारा गुलाल स्थानीय स्तर ही नहीं पूरे प्रदेश में बिक्री के लिए उपलब्ध हो सके.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: