Homeछत्तीसगढराहुल गांधी की संसद सदस्य्ता खत्म होने के बाद रायपुर में बवाल,...

राहुल गांधी की संसद सदस्य्ता खत्म होने के बाद रायपुर में बवाल, सड़क पर उतरे कांग्रेसी, बीजेपी नेता का सिर फटा…..

सम्यक नाहटा, रायपुर। राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता रद्द होने के बाद राजधानी में भी उसका असर देखने को मिल रहा है. भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई है.
इस दौरान BJYM जिला अध्यक्ष गोविंदा गुप्ता का सिर फट गया. वहीं युवा कांग्रेसियों ने भी बीजेपी कार्यलय एकात्म परिसर की दीवार पर लगे बैनर में प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव की फोटो पर कालिख फेंकी है. इतना ही नहीं भाजपा के कार्यकर्ता अब राजीव गांधी भवन में जमकर पथराव कर रहे हैं। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस के वरिष्ट नेताओं ने शांति व्यवस्था बनाए ऱखने की अपील की है. बता दें कि, बड़ी संख्या में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता एकात्म परिसर पहुंचे हैं. जहां भाजपाइयों और कांग्रेसियों के बीच जमकर झड़प हुई है।
वहीं मामले को देखते हुए कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन के बाहर पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है. वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी राजीव भवन में घुसने की कोशिश की. साथ ही जमकर पथराव भी किया. हालांकि, पुलिस मामले को काबू करने की कोशिश कर रही है। राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता रद्द किए जाने के बाद देशभर में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में आक्रोश है। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आक्रोश देखा गया। इस फैसले से भड़के कांग्रेसी कार्यकर्ता रायपुर भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर पहुंचे और पार्टी दफ्तर के बाहर बीजेपी नेताओं के पोस्‍टर पर कालिख फेंकी।
इससे भाजपा कार्यालय में मौजूद पार्टी कार्यकर्ताओं का गुस्‍सा भी भड़क उठा। इसी दौरान दोनों राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय के सामने पुतला फूंका और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस मूकदर्शक बनकर देखती रही। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के बाद भाजपा कार्याकर्ता भी भड़क गए। कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन के बाहर पहुंचे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। प्रदर्शन के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने राजीव भवन के बाहर पथराव भी किया।
इधर, राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता रद्द किए जाने के बाद छत्‍तीसगढ़ में लगातार राजनीतिक प्रतिक्रिया आ रहा है। मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, तानाशाह का सबसे बड़ा डर होता है कि उससे लोग डरना बंद न कर दें। आप उसे डराना चाहते हैं जो पूरे देश को कह रहा है “डरो मत”। इंदिरा जी के साथ भी यही भूल की थी कुछ लोगों ने, बाकि फिर इतिहास है। यहीं मिलेंगे जनता की अदालत में। जनता होगी, जननेता होगा..नहीं होगा तो सिर्फ़ डर और तानाशाह। कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, मोदी सरकार लोकतंत्र का गला घोट रही है। कोर्ट ने 30 दिन का वक्‍त दिया था, इसे लेकर ऊपरी अदालत में चैलेंज कर सकते थे। लेकिन हम लड़ेंगे और सत्‍य की जीत होगी।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: