Google search engine
Homeबस्तरजगदलपुरपुलिस मुखबिरी के शक में युवक का मर्डर : CG-तेलंगाना बॉर्डर पर...

पुलिस मुखबिरी के शक में युवक का मर्डर : CG-तेलंगाना बॉर्डर पर माओवादियों ने अपहरण कर की हत्या,धारदार हथियार से किए कई वार……

पुलिस मुखबिरी के शक में युवक का मर्डर : CG-तेलंगाना बॉर्डर पर माओवादियों ने अपहरण कर की हत्या,धारदार हथियार से किए कई वार

जगदलपुर :- छत्तीसगढ़-तेलंगाना राज्य के सरहदी इलाके में माओवादियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में एक युवक को मौत की सजा दी है।

माओवादियों ने युवक का अपहरण कर उसे मार डाला है। धारदार हथियार से शरीर में करीब 30 से ज्यादा वार किए हैं। हत्या कर शव को गांव में ही फेंक दिया है। शव के पास में भारी संख्या में पर्चे भी फेंके हैं।

जानकारी के मुताबिक, माओवादियों ने कोंडापुर गांव के नजदीक से पहले युवक सब्का गोपाल का अपहरण किया था। फिर जंगल में लेजाकर पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगा उसकी हत्या कर दी।

माओवादियों ने शरीर में धारदार हथियार से कई वार किए। वारदात को अंजाम देने के बाद माओवादियों ने शव को गांव के ही नजदीक जंगल में फेंक दिया था।

माओवादियों की वेंकटापुरम, वाजेडू एरिया कमेटी ने पर्चा फेंककर हत्या की जिम्मेदरी ली है। माओवादियों ने पर्चे में लिखा है कि युवक पुलिस की मुखबिरी का काम करता था। इसलिए इसे मौत की सजा दी जा रही है। फिलहाल पुलिस इलाके के लोगों से भी पूछताछ कर रही है।

पिछले कुछ महीनों में इतनों को मारा

  • 17 नवंबर 2020 को नक्सलियों ने सुकमा के जंगलों में जनअदालत लगा कर 2 युवकों की हत्या की थी।
  • 21 अक्टूबर 2020 को नक्सलियों ने बीजापुर में एक आरक्षक को अगवा कर जनअदालत लगा उसकी हत्या की थी।
  • साल 2020 में ही नक्सलियों ने नारायणपुर के अबूझमाड़ में 2 युवकों पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगा कर गला रेत का हत्या की थी।
  • साल 2020 में कांकेर जिले में नक्सलियों ने जन अदालत लगा कर एक पूर्व सरपंच की हत्या की थी।
  • साल 2020 में कांकेर जिले में एक दिव्यांग युवक की हत्या कर शव सड़क किनारे फेंका था। इस पर भी पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया गया था।
  • साल 2020 में सुकमा जिले में ही नक्सलियों ने एक ग्रामीण पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगा कर जन अदालत लगा उसकी हत्या कर दी थी।
  • नवंबर 2021 में सुकमा जिले में जनअदालत लगाकर माओवादियों ने 2 युवकों की हत्या की थी। इनपर भी पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया था।
  • नवंबर 2021 में नक्सलियों ने कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा इलाके में जनअदालत लगाकर 1 ग्रामीण की हत्या की थी।
  • जनवरी 2022 में बीजापुर जिले में अपने ही एक साथी कमलू पुनेम को जन अदालत लगाकर मारा।
  • जनवरी 2022 में ही बीजापुर जिले के जांगला थाना क्षेत्र में अपने ही 2 साथी भोंगी पोयाम और कोतरापाल निवासी बोटी कुहरामी पर पुलिस मुखबिरी का शक कर उन्हें भी जनअदालत लगा कर मौत की सजा दी।
  • 10 फरवरी को माओवादियों ने दंतेवाड़ा जिले के टेटम में एक युवक की हत्या कर दी थी।
  • 17 मार्च को माओवादियों ने बीजापुर जिले के मद्देड थाना क्षेत्र में एक पास्टर की हत्या की थी।
  • 28 अप्रैल को दंतेवाड़ा के नीलावाया में एक दिव्यांग युवक की हत्या कर दी।
  • 2 मई को दंतेवाड़ा जिले के कटेकल्याण इलाके के एक कोटवार को मारा था।
  • 27 अगस्त को कोंडागांव जिले में एक ग्रामीण की जान ले ली।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments