Homeबस्तरजगदलपुरबस्तर के पर्यटन स्थलों में उमड़ी भीड़, हॉटल-लॉज, स्टे होम में नही...

बस्तर के पर्यटन स्थलों में उमड़ी भीड़, हॉटल-लॉज, स्टे होम में नही बची जगह…..

बस्तर के पर्यटन स्थलों में उमड़ी भीड़, हॉटल-लॉज, स्टे होम में नही बची जगह

जगदलपुर :- बस्तर के पर्यटन स्थलों में सैलानियों की भीड़ काफी बढ़ गई है। इस वर्ष बस्तर पहुंचने वाले ओडिशा,
महाराष्ट्र,तेलंगाना, एवं पश्चिम बंगाल से आने वाले पर्यटकों की संख्या का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है

कि हॉटल और लॉज लगभग फुल हैं, स्टे होम की जो व्यवस्था है, वह भी फुल हैं। नववर्ष की छुट्टी मनाने पहुंचे सैलानियों से यहां के पर्यटक स्थलों पर भारी भीड़ है।

दिसंबर माह में यहां आने वाले पर्यटकों का आकड़ा तीस हजार तक पहुंच सकता है। कोरोना काल के बाद इस सीजन में अब तक लाखों पर्यटक बस्तर पहुंच चुके हैं।

पर्यटन स्थलों में चित्रकोट जल प्रपात,तीरथगढ़ जल प्रपात, कुटुमसर एवं कांगेरघाटी नेशनल पार्क के साथ ही छिंदनार में इन्द्रावती में पुल बनने तथा हादावाड़ा तक कच्ची सड़क विस्तार के कारण हादावाड़ा एक नया और आकर्षक पर्यटन स्थल बन गया है, यहां रोजाना हजारो पर्यटक पंहुच रहे ।

लोगो का मानाना है कि यदि हांदावाड़ा तक पक्की सड़क बना दिया जाए तो यहां बड़ी संख्या में पर्यटक आने लगेंगे। पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की भीड़ के कारण रास्ते में कई छोटी-छोटी दुकानें और होटल खुल गए है,

इससे सैकड़ों लोगों को रोजगार मिल रहा है। कांगेर घाटी नेशनल पार्क में जिप्सियों के माध्यम से ही अंदर प्रवेश की इजाजत है। लेकिन जिप्सियों की सीमित संख्या है और लोग एडवांस बुकिंग करवा रखे हैं।

बस्तर हॉटल एसोसिएशन के अध्यक्ष जतिन जायसवाल ने बताया कि जगदलपुर के लॉज और कॉटेज में इन दिनों बड़ी संख्या में पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग करवा रखी है,

इस कारण जगह नहीं है। होम स्टे के संचालक शकील रिजवी ने बताया कि बस्तर में बोदल, लोहंडीगुड़ा, चित्रकोट, नगरनार सहित दर्जन भर इलाकों में स्टे होम की जो व्यवस्था है, वह भी फुल है।

राष्ट्रीय उद्यान के निदेशक गणवीर धम्मशील के अनुसार यहां आने वाले पर्यटकों की वास्तविक संख्या की गणना की कोई व्यवस्था नहीं होने से कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के बैरियर में पर्यटकों का आधिकारिक लेखा-जोखा नहीं है।

इसके अनुसार 30 नवंबर 2022 तक 01 लाख 18 हजार 862 पर्यटक बस्तर पहुंचे है। दिसंबर माह के आकड़े अभी आए नहीं है, इसके बाद पर्यटकों की संख्या करीब डेढ़ लाख से अधिक हो सकती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: