Homeबस्तरजगदलपुरस्वच्छता दीदियों का हो रहा है शोषण ,किया जा रहा है अमानवीय...

स्वच्छता दीदियों का हो रहा है शोषण ,किया जा रहा है अमानवीय व्यवहार – संजय पा०ड़े

स्वच्छता दीदियों का हो रहा है शोषण ,किया जा रहा है अमानवीय व्यवहार – संजय पा०ड़े

सम्यक नाहटा, जगदलपुर : जगदलपुर शहर के भाजपा कार्यालय से रैली के रूप में आज भाजपा पार्षद दल ने निगम की महापौर सफीरा साहू और आयुक्त के नाम मिशन क्लीन सिटी के अंतर्गत स्वच्छता दीदियाँ एवं SLRM सेंटर में कार्यरत बहनो के साथ हो रहे तानाशाही पूर्वक रवैये , उन पर हो रहे शारीरिक आर्थिक और मानसिक अत्याचार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा है

विदित हो कि नगर निगम ने आम जनता से चार अलग अलग प्रकार से कचरा देने का फ़रमान जारी किया है ! जिसके अंतर्गत गीला कचरा,सूखा कचरा,प्लास्टिक कचरा और अन्य कचरा,इस प्रकार चार प्रकार का कचरा आम लोगों को अपने घर से ही कचरा अलग अलग कर देने का आह्वान किया गया है !

लेकिन नगर निगम के अव्यावहारिक निर्णय एवं आनन फ़ानन यह योजना शुरू करने के कारण इसके अपेक्षित परिणाम सामने नहीं आ रहे हैं , बल्कि आमलोगों एवं स्वच्छता दीदियों व आटो चालक के बीच अपमानजनक व्यवहार तथा विवाद की स्थिति बन रही है!

नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने कहा है कि व्यापक प्रचार प्रसार के अभाव एवं लोगों को संसाधन से जोड़ने के बजाए निगम तानाशाही पूर्वक व्यवहार कर रहा है ! निगम के इस निर्णय से आम जनता,स्वच्छता के कर्मचारी एवं पार्षद के बीच कई बार अप्रिय स्थिति पैदा हो जा रही है !

SLRM सेंटर अलग अलग प्रकार का कचरा नहीं दिए जाने के कारण ऑटो को अपने सेंटर मे ख़ाली होने नहीं देता है ! ऐसे में २ स्वच्छता दीदियाँ जो सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक कार्य करती है , वह कचरे को सेग्रिगेट करें तो वार्ड से कचरा नहीं ले पाती और वार्ड से कचरा लेती है तो कचरे को अलग अलग नहीं कर पाती हैं !

परंतु निगम अपने हट से बाज़ नहीं आ रहा है, और लगातार दवाब बना रहा है ! पहले एक दिन मे पूरे वार्ड से कचरा ऑटो में ले लिया जाता था ,जो कि अब तीन दिन मैं भी पूरा नहीं हो रहा है !

ऐसे में लोग फिर से पुरानी व्यवस्था में लौटकर घर का कचरा नालियों में,नुक्कड़ों में अथवा गलियों में डालने बाध्य हो रहे हैं !!अच्छा होता कि कथित 36 लाख रुपये की डस्टबीन ख़रीदी,चौक चौराहे में सुंदरता बढ़ाने की बजाए आम जनता को प्रदाय किया जाता तो आज वह नगर निगम के स्वच्छता अभियान में सहयोगी होता !

पांडे ने कहा है कि यूज़र चार्जर्स नगर निगम आम जनों से वसूल रहा है , यह पैसा सीधे स्वछता दीदियों के खाते पर जमा होना चाहिए ! यह उनके खाते में जमा नहीं कर निगम अन्य मदों में ख़र्च कर रहा है,यह घोर अनियमितता की श्रेणी में आता है !

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: