Homeबस्तरजगदलपुरबस्तर पुलिस ने दिखाई मानवता पीड़ित परिवार को भिजवाया अपने गृह निवास.....

बस्तर पुलिस ने दिखाई मानवता पीड़ित परिवार को भिजवाया अपने गृह निवास…..

बस्तर पुलिस ने दिखाई मानवता पीड़ित परिवार को भिजवाया अपने गृह निवास

सम्यक नाहटा, जगदलपुर : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदया निवेदिता पाल, नगर पुलिस अधीक्षक विकास कुमार (भा.पु.से.) के दिशा निर्देशन एवं मार्गदर्शन में 26 फरवरी को रेलवे स्टेशन जगदलपुर में एक अज्ञात महिला मुर्क्षित अवस्था में पड़ी हुई
मिलने से आरपीएफ जगदलपुर एवं डायल 112 की टीम द्वारा उक्त महिला को महारानी अस्पताल जगदलपुर में भर्ती कराया गया था, बाद में बेहतर उपचार हेतु मेडिकल कॉलेज डिमरापाल में रिफर किया गया, जहां उपचार के दौरान उक्त महिला का 12 मार्च को मौत हो गया,
जिसकी मर्ग रिपोर्ट थाना बोधघाट कायम कर जाँच कार्यवाही में लिया गया, जाँच दौरान मृतिका के पास से मिले अधार कार्ड, बैंक पासबुक एवं मेडिकल पर्ची के आधार पर बैंक पासबुक एवं कार्ड में लिंक मोबाईल नंबरों की जानकारी प्राप्त कर व्हाट्स अप के माध्यम से फोटो भेजकर मृतिका के परिजनों की पता तलाश करने से मृतका के परिजनों का विशाखापटनम में होना पता चलने से फोन के माध्यम से परिजनों से संपर्क किया गया, मृतिका के परिजनों की आर्थिक स्थिति बहुत खराब नेव विशाखापटनम से जगदलपुर आने का किराया
की राशि नहीं होना अवगत कराने पर बोधघाट पुलिस एवं पुलिस सहायता केन्द्र नया बस स्टैण्ड द्वारा बस ऑपरेटरों से संपर्क कर मृतका के परिजनों को बस के माध्यम से जगदलपुर बुलवाया गया जो शनिवार के प्रातः नया बस स्टैण्ड जगदलपुर में मृतका की पुत्री मेरी हेगा उम्र 18 वर्ष, मेरी हसिनी उम्र 12 वर्ष एवं मृतका की बहन येरी थेरनी पहुँचे
जिसे बोधघाट पुलिस एवं बस स्टैण्ड चौकी प्रभारी द्वारा उन्हें रिसिव कर मेडिकल कॉलेज डिमरापाल लेजाकर मृतका का अंतिम दर्शन कराया गया। मृतका के परिजनों के पास अंतिम संस्कार के लिये पैसे नहीं होने एवं मृतका को विशाखापटनम नहीं ले जा सकने की बात बताने पर मृतका के परिजनों की सहमति से बोधघाट पुलिस एवं नगर निगम के सहयोग से परिजनों की उपस्थिति में जगदलपुर भक्तिधाम में विधिविधान से अंतिम संस्कार कराया गया मृतका के दोनो पुत्रियों एवं बहन को बोधघाट पुलिस एवं आरपीएफ पोस्ट जगदलपुर द्वारा आर्थिक मदद भी की गई। मृतका की दोनो पुत्रियां पुलिस के सहयोग से भावुक हो गई थी जो लगातार पुलिस को धन्यवाद दे रही थीं। तद्उपरान्त परिजनों को वापस विशाखापटनम रेल मार्ग के माध्यम से भेजा गया।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: