Google search engine
Homeबस्तरजगदलपुरराजीव गांधी वार्ड नंबर 33 में महिला पार्षद से नाराज वार्ड वासीयों...

राजीव गांधी वार्ड नंबर 33 में महिला पार्षद से नाराज वार्ड वासीयों ने लगाया वार्ड में मनमानी करने का आरोप….

राजीव गांधी वार्ड नंबर 33 में महिला पार्षद से नाराज वार्ड वासीयों ने लगाया वार्ड में मनमानी करने का आरोप

जगदलपुर :- जगदलपुर शहर के राजीव गांधी वार्ड क्रमांक 33 में वार्ड वासियों का वहाँ के महिला पार्षद महोदया श्रीमति कविता साहू के विरोध मे नगर निगम एवं नगरीय प्रशासन एवं श्रम विभाग मंत्री आदरणीय डॉक्टर शिव कुमार डहरिया जी से मुलाकात कर वार्ड के समस्याओं का निराकरण मांगा।

आपको बता दे कि वार्ड कि समस्या क्या है वार्ड वासियों का कहना है कि अभी वर्तमान मे राजीव गांधी वार्ड राशन दुकान के लिए जगह पार्षद महोदया ने दिखाया है

और चालू किया है वो वार्ड के लोगों के हित में नहीं है दरसल उस जगह में वार्ड वासी अपने कई धार्मिक त्यौहारो को जैसे गणेश की मूर्ति पूजा,दुर्गा पूजा,क्रिसमस या किसी का घर छोटा है

तो उस जगह में शादी ब्याह या दुःख का काम करते आ रहे है साथी ही जगदलपुर इतना अब विकशित होते आ रहा है हर मोहल्ले में छोटी-छोटी गलियाँ हो गई है

जहाँ पार्किंग जैसे समस्या आता है त्यौहारो के बाद वहाँ आसपास के वार्ड के लोगों का गाड़ियां को रात मे खडी कर पार्किंग किया जाता है। जहाँ में आवक-जावक़ में वार्ड के लोगों परेशानी नहीं होती।

मगर वहाँ के पार्षद महोदया ने राशन दुकान के लिए उस जगह को चयनित कर वहाँ के वार्ड वासियों की और कई आस्थाओं,धार्मिको को मानने वालो की एक मात्र जगह को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है

जबकि राजीव गांधी वार्ड में एक और सरकारी जगह है जहाँ पार्षद के चहिते या कहें उनके करीबी है उन्होंने जबरदस्ती सरकारी जमीन पर चिकन काटने व बेचने के लिए दुकान खोलकर बैठे है

जो मुर्गीयों के कटने के बाद वहीं नाली में फेंके जाते है जहाँ गंदी बदबू और कई बीमारियां होने की आशंका भी है उनके साथ ही कटी मुर्गियों से खून को देखकर कई महिला-बच्चे व बुजुर्ग घबरा जाते है

वहीं आसपास में कई कमजोर दिल वाले लोग भी रहते है जो आते जाते ये नज़ारा देखते है वार्ड वासियों का कहना है वहाँ आसपास हार्ड अटैक जैसे मरीज़ वाले भी रहते है जो कई बार निग़म में शिकायत भी कर चुके है

चिकन दुकान को हटाने के लिए मगर पार्षद महोदया जी के करीबी होने के चलते उनका कुछ नहीं हो पाता है अगर उस चिकन दुकान को हटा कर वहाँ राशन की दुकान बनाया जाए तो सभी का भला हो सकता है जहाँ स्वच्छ भारत सुन्दर भारत का सपना साकार हो सकता है।

मगर पार्षद महोदया ने मानो जैसे ठान ही लिया है कि,सामाजिक,धार्मिक और आस्था जैसे जगहों को हटा कर अपना रौब दिखाना सही समझ रहे है।

वार्ड वासियों का कहना है कि ऐसा ही इनका मनमानी चलता रहा तो आगामी चुनाव में हम जो कांग्रेस पार्टी का समर्थन करते है वो शायद इसके बाद हमारे भरोसे में नहीं होगा। हमारी जहाँ धार्मिक आस्थाओं को कुचला जाये ऐसे सरकार वार्ड वासियों और सामाजिक के लिये खतरा साबित होता नजर आ रहा है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments