Homeबस्तर संभागदंतेवाड़ाजिला न्यायालय में खोला गया ई मालखाना,, उच्च न्यायालय जस्टिस सचिन सिंह...

जिला न्यायालय में खोला गया ई मालखाना,, उच्च न्यायालय जस्टिस सचिन सिंह राजपूत ने फीता काटा

जिला न्यायालय में खोला गया ई मालखाना,, उच्च न्यायालय जस्टिस सचिन सिंह राजपूत ने फीता काटा

दंतेवाडा : स्थानीय जिला न्यायालय में उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति एवं जिला न्यायालय के पोर्टफोलियो सचिन सिंह राजपूत, के द्वारा जिला एवं सत्र न्यायालय एवं व्यवहार न्यालय बलरामपुर में निरीक्षण किया गया।

रामानुजगंज में मालखाना का फीता काटकर उद्घाटन किया। न्यायमूर्ति सचिन सिंह राजपूत, जिला एवं सत्र न्यायधीश सिराजुद्दीन कुरेशी, प्रथम अपर सत्र जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रफुल्ल कुमार सोनवानी, पक्सो एक्ट न्यायाधीश आशीष पाठक, द्वितीय सत्र एवं जिला न्यायाधीश मधुसूदन चंद्राकर, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पंकज आलोक तिर्की, बलरामपुर के न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं रामानुजगंज में स्थित बाल न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश दीपक कुमार शर्मा, विधिक सेवा समिति के सचिव रेशमा बैरागी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

डिस्ट्रिक्ट कोर्ट कंप्यूटराइजेशन कमेटी के मार्गदर्शन में विकसित किया गया प्रदेश के पहले ई मालखान का रीबन काटकर उद्घाटन किया गया ।

तथा न्यायमूर्ति ने सभी न्यायाधीशगण एवं अधिवक्ताओं को संबोधित करते हुए अत्यंत आश्चर्य मिश्रित शब्दों में कहा गया कि राजधानी, न्यायधानी से सुदूर अंचल में जहां रायपुर, बिलासपुर की तुलना में अत्यंत अल्प साधन उपलब्ध हैं वहाँ पर ई मालखाना जैसे उपयोगी और दूरदर्शी सिस्टम का विकसित किया जाना अत्यंत सराहनीय है,

इसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाना चाहिये। यह संपति के रखरखाव एवं संपत्ति प्रबंधन में बहुत उपयोगी साबित होगा। पोर्टफोलियो जस्टिस के समक्ष समस्त न्यायाधीशों, अधिवक्तागण एवम न्यायालयीन कर्मचारियों के समक्ष ई मालखाना का लाइव डेमो प्रस्तुत किया गया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश सिराजुद्दीन कुरेशी ने उपस्थित मजिस्ट्रेट एवं संबोधित करते हुए

कहा कि ई मालखाना के माध्यम से नष्ट करने योग्य संपतियो को ढूंढना बेहद आसान हो जाएगा। एक ही समान दिखने वाली सम्पत्ति जैसे लकड़ी का डंडा, पत्थर इत्यादि को विभिन्न मामलों को जब्त किया जाता है,

ऐसी स्थिति में संपति इमेज के माध्यम से सही संपति को ढूंढना, न्यायालय की कार्यवाही में संपति से संबंधित जानकारी को अद्यतन रखने में बहुत आसानी होगी ।

प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रफुल्ल कुमार सोनवानी ने कहा कि ई मालखाना के माध्यम से संपति एवं प्रकरण फाइल में लगे क्यूआर कोड को स्कैन कर संपति की जानकारी, संपति की हिस्ट्री को आसानी से एक्सेस की जा सकेगी।

संपति में लगे क्यूआर कोड को स्मार्ट फोन के क्यूआर कोड स्कैनर एप्लीकेशन के मध्यम से स्कैन कर प्रकरण नंबर, पार्टी का नाम, संपति नाम इत्यादि को ऑफलाइन एक्सेस किया जा सकेगा ।

इससे संपति को सही जगह में रखने में सहयोग होगा । संपति को बॉक्स में संयोजित तरीके से रखा जा सकेगा । इस तकनीक के इस्तेमाल से मालखाना पहलेसंपति को बॉक्स में संयोजित तरीके से रखा जा सकेगा । इस तकनीक के इस्तेमाल से मालखाना पहले से ज्यादा साफ सुथरा और व्यवस्थित होगा ।

साथ ही भविष्य में आरएफआईडी जैसे एडवांस टेक्नोलॉजी का उपयोग कर संपतियों में टैग किया जाएगा, जिससे संपति गुमने की सम्भावना खत्म हो जाएगी। ई-लाइब्रेरी एवम ई रिकॉर्ड रूम की दिशा में जिला एवं सत्र न्यायाधीश सिराजुद्दीन कुरैशी, के मार्गदर्शन व निंर्देशन में कार्य किया जा रहा रहा है।।

अधिवक्ता संघ ने किया मांग……… इस संबंध में जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष आरके पटेल ने बताया कि जिला न्यायालय भवन निर्माण की जगह जो कंचन नगर में चयनित की गई है उसे वर्तमान में लग रहे भूमि पर ही निर्माण की जाए जेएमएफसी कोर्ट बंद पड़े हुए हैं उन्हें खुलवाया जाए , फैमिली कोर्ट ,

लेबर कोर्ट और उपभोक्ता फोरम के साथ स्थाई लोक अदालत भी खोली जाए। इस अवसर पर आरके पटेल , अनूप कुमार तिवारी, संतोष कुमार पांडे,किरण यादव, शंभू गुप्ता, विपिन सिंह बिहारी, अविनाश गुप्ता, जयप्रकाश गुप्ता, विमलेश सिन्हा , सनाउल्लाह अंसारी, जितेंद्र गुप्ता, अविनाश गुप्ता, राकेश पांडे, सहित अधिवक्ता गण एवं न्यायालय के कर्मचारी उपस्थित थे।।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: