Google search engine
Homeछत्तीसगढबिलासपुर संभाग‘महंगाई कोई मुद्दा नहीं है, हम नहीं बोल सकते’: शालिनी राजपूत बोलीं-...

‘महंगाई कोई मुद्दा नहीं है, हम नहीं बोल सकते’: शालिनी राजपूत बोलीं- कांग्रेस सरकार को घेरना मुख्य मुद्दा है, BJP नेता के रेप केस के सवाल पर तिलमिला उठे कौशिक, कहा- जानकारी नहीं…

‘महंगाई कोई मुद्दा नहीं है, हम नहीं बोल सकते’: शालिनी राजपूत बोलीं- कांग्रेस सरकार को घेरना मुख्य मुद्दा है, BJP नेता के रेप केस के सवाल पर तिलमिला उठे कौशिक, कहा- जानकारी नहीं…

बिलासपुर। 11 नवंबर को बिलासपुर में भाजपा महिला मोर्चा की महतारी हुंकार रैली है, जिसे लेकर पत्रकारों से चर्चा के दौरान भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने बढ़ती महंगाई को लेकर अजीबोगरीब बयान दिया है.

उन्होंने कहा, कि ‘महंगाई कोई मुद्दा नहीं है, कांग्रेस सरकार को घेरना मुख्य मुद्दा है’. आगे उन्होंने महंगाई अपने रेश्यू के हिसाब से आगे पीछे होते रहती है, इसलिए हम मुद्दा नहीं बोल सकते.

वहीं भाजपा के बिल्हा जनपद पंचायत सभापति शिवानंद सराफ के रेप केस में फंसने और महिला से समझौते का वीडियो वायरल होने के सवाल पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक लाल हो गए. मीडिया को जानकारी नहीं होने की बात कहने लगे.

इधर रैली को लेकर महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि जिसमें केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, मंत्री रेणुका सिंह, सांसद संगीता यादव राष्ट्रीय महामंत्री महिला मोर्चा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह सांसद अरुण साव, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल सहित महिला मोर्चा के अलावा प्रदेश की महिला पदाधिकारी और भाजपा के तमाम पदाधिकारी कार्यकर्ता शामिल होंगे.

भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने बताया कि प्रदेश में शराबबंदी, महिला सुरक्षा, सामूहिक दुष्कर्म, अनाचार,रेडी टू ईट से महिलाओं को बेरोजगार करना,

स्व सहायता समूह की कर्जा माफी, प्रधानमंत्री आवास योजना को ठप करना जैसे इन मुद्दों को लेकर वे महतारी हुंकार रैली का आयोजन कर रहे हैं. जगमल चौक के पटेल ग्राउंड से रैली के जरिए नेहरू चौक तक पैदल यात्रा की जाएगी.

इसके बाद नेहरू चौक में तमाम बड़े भाजपा के नेता सभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद शासन को ज्ञापन भी सौंपा जाएगा. शालिनी राजपूत ने बताया कि प्रदेश के आदिवासी अंचल में दर्दनाक घटनाएं हो रही हैं, जिस पर राज्य सरकार मौन बैठी हुई है.

जशपुर जांजगीर सहित कई जिलों का उल्लेख करते हुए उन्होंने बताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ठप पड़ गई है. वादाखिलाफी को लेकर यह महिलाओं की राज्य सरकार को चेतावनी है. इसके बाद भी भूपेश बघेल की सरकार नहीं चेती तो इस तरह के आंदोलन आगे भी किए जाते रहेंगे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments