Google search engine
Homeरायपुर-संभागरायपुरCM बघेल ने श्री नारायणा हॉस्पिटल में किया जॉइंट रिप्लेसमेंट रोबोट का...

CM बघेल ने श्री नारायणा हॉस्पिटल में किया जॉइंट रिप्लेसमेंट रोबोट का उद्घाटन, मेट्रो सिटीज पर निर्भरता होगी खत्म

CM बघेल ने श्री नारायणा हॉस्पिटल में किया जॉइंट रिप्लेसमेंट रोबोट का उद्घाटन, मेट्रो सिटीज पर निर्भरता होगी खत्म

रायपुर। देवेंद्र नगर स्थित श्री नारायणा हॉस्पिटल में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जॉइंट रिप्लेसमेंट रोबोट का उद्घाटन विधि विधान से किया. इस दौरान रायपुर ग्रामीण विधायक सत्यनारायण शर्मा,

रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल, रायपुर उत्तर विधायक कुलदीप जुनेजा, संसदीय सचिव एवं रायपुर पश्चिम विधायक विकास उपाध्याय और रायपुर महापौर एजाज ढेबर उपस्थित रहे.

वर्तमान में देवेंद्र नगर,रायपुर स्थित श्री नारायणा हॉस्पिटल ही नहीं वरन आसपास के अन्य प्रदेशों में ऑर्थोपेडिक्स चिकित्सा के मरीजों के लिए सबसे पहली पसंद के रूप में स्थापित हो चुका है.

यहां विश्वस्तरीय टेक्निक्स उपलब्ध कराने और अत्याधुनिक पद्धति से घुटना प्रत्यारोपण सर्जरी के उद्देश्य से मध्य भारत का सबसे पहला Maxx-Meril-Cuvis-Robot” स्थापित किया गया है.

जिससे छत्तीसगढ़ में ऑर्थोपेडिक्स चिकित्सा के क्षेत्र में एक नए युग का आरंभ होगा, यह मध्य भारत की सबसे पहली फुल्ली ऑटोमेटिक रोबोटिक सर्जरी मशीन है,

इस मशीन के आने से मध्य भारत और छत्तीसगढ़ के जरूरतमंद मरीजों को नी रिप्लेसमेंट सर्जरी के लिए मेट्रो शहरों के बड़े हॉस्पिटल्स की निर्भरता समाप्त हो जाएगी.

हॉस्पिटल के ज्वाइंट एवं नी रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. प्रीतम अग्रवाल ने बताया कि हर किसी के घुटने का आकार भिन्न-भिन्न होता है. जिसकी वजह से रोबोटिक सर्जरी की महत्ता और भी बढ़ जाती है

क्योंकि इसके जरिए ही पर्सनलाइज्ड नी रिप्लेसमेंट संभव हो सकता है, यानी जिस आकार का घुटना उसी आकार का इमप्लांट और उसी आकार का नी रिप्लेसमेंट, जिसकी वजह से जॉइंट की लाइफ बढ़ जाती है,

इसके साथ ही रोबोटिक नी रिप्लेसमेंट एकदम सटीक (Precised) होता है जो घुटने के इमप्लांट की लाइफ बढ़ाने का प्रमुख कारण है, रोबोटिक सर्जरी मिनीमली इनवेसिव सर्जरी होती है, इसमें रिकवरी एकदम फास्ट होती है.

मानवीय भूल होने की संभावना नहीं होती है, मरीज का हॉस्पिटल स्टे बहुत कम होता है,पेन नहीं के बराबर होता है, फिजियोथेरेपी इत्यादि की जरूरत कम पड़ती है, अन्य सपोर्टिंग मांसपेशियां, संबंधित उत्तक एवं अन्य सॉफ्ट टिश्यूज आदि पूर्णत: सुरक्षित रहते हैं.

हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका ने इस अवसर पर बताया कि रोबोटिक सर्जरी के पहले, प्लानिंग के साथ मरीज के पैर के लोवर लिम्ब का हिप, नी और एंकल को फोकस करते हुए सीटी स्कैन किया जाता है,

एकदम फाइन एक्यूरेसी और माइन्यूट डिग्री के एंगल का करेक्शन होने की वजह से रोबोटिक सर्जरी के बाद यह एकदम नॉर्मल लिंब जैसा हो जाता है,

इसकी लाइफ एक्सपेक्टेंसी ज्यादा रहती है में प्रमुख रूप से तीन पार्ट हैं पहला मेन कंसोल, दूसरा रोबोटिक आर्म और तीसरा प्लानर इसके अलावा इसके फीचर्स ऑफ एडवांटेज इस प्रकार है:-

Only Fully Automatic Robot System.
3D CT Base Surgical Planning.
Personalized Pre- Planning.
Pre- Selection of Artificial joint and Precise Insertion of Artificial Joint.
Precise Cutting for Sub Millimeters Accuracy and Optimal Alignments.
Reduction of Side Effects.
Minimal Invasive.
Minimal Pain.
Patient can start walk within 6 hours after surgery.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments