Homeजरा हटकेनिलंबित हेड कॉन्स्टेबल ने की ख़ुदकुशी, ट्रैक पर ट्रेन के आगे लेट...

निलंबित हेड कॉन्स्टेबल ने की ख़ुदकुशी, ट्रैक पर ट्रेन के आगे लेट गया…..

सम्यक नाहटा, कानपुर। कानपुर में रेलवे ट्रैक पर एक हेड कॉन्स्टेबल ने सुसाइड कर लिया. वह पटरी पर सीधे लेट गया. जिसके बाद उसके ऊपर से ट्रेन गुजर गई. इससे उसका शरीर दो हिस्सों में बंट गया.

घटना सेंट्रल स्टेशन के फेथफुलगंज आउटर पर हुई. बताया जा रहा है कि हेड कॉन्स्टेबल 7 महीने से सस्पेंड था. इसके चलते वह काफी समय से डिप्रेशन में था. इसी के चलते उसने यह कदम उठाया है. उसका अस्पताल में डिप्रेशन का इलाज भी चल रहा था.

अस्पताल से आकर उसने रेलवे ट्रैक पर सुसाइड किया है. उधर, रेलवे स्टेशन के कर्मचारियों ने बताया, मंगलवार सुबह करीब 9:30 बजे हेड कॉन्स्टेबल ने जब ट्रेन आती देखी, तो ट्रैक पर जाकर लेट गया. जब तक उसको उठाया जाता, उसके ऊपर से ट्रेन गुजर चुकी थी.

मामले की सूचना पर GRP के सिपाही मौके पर पहुंचे. बताया जा रहा है हेड कॉन्स्टेबल 7 महीने से निलंबित होने के कारण परेशान था. हेड कॉन्स्टेबल का नाम राहुल वर्मा है. वो शादीशुदा था. उसके दो बच्चे भी थे. वो परिवार का भरण-पोषण नहीं कर पा रहा था. इसलिए परेशान था. वहीं जीआरपी की जांच में पता चला है

कि राहुल शहर के बेकनगंज थाने में हेड कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात था. जीआरपी ने राहुल के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. मामले की जांच की जा रही है. मामले में परिवार के लोगों का कहना है, 7 महीने पहले हर्ष फायरिंग के मामले में राहुल को निलंबित कर दिया गया था. तब से वो बहुत परेशान था.

किसी तरह से घर का खर्चा चला पा रहा था. उसके बच्चों की पढ़ाई तक छूट गई थी. वो ये सब देखकर बहुत परेशान रहने लगा था. वो किसी से ज्यादा बात भी नहीं किया करता था. घर में कोई दूसरा जरिया भी नहीं था. जो उसको सपोर्ट कर देता. राहुल के परिवार के लोगों ने आगे बताया,

चिंता के कारण राहुल डिप्रेशन में चला गया था. राहुल काफी बीमार हो गया था. उसको इलाज के लिए शहर के बड़ा चौराहा स्थित उर्सला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. मंगलवार सुबह अस्पताल से निकल कर रेलवे ट्रैक पर आकर राहुल ने अपनी जान दे दी. वो कहकर गया था कि कुछ देर में वापस आ जाएगा

लेकिन हमें तो उसकी मौत की खबर मिली. वो कहता था, अस्पताल में पैसा बेकार में जा रहा है. वैसे भी स्थिति ठीक नहीं है. इससे अच्छा मैं घर में था. कम से कम पैसा तो बच रहा था. थाना बेकनगंज में तैनाती के दौरान राहुल का निलंबन हर्ष फायरिंग किए जाने को लेकर हुआ था. उसका वीडियो भी वायरल हुआ था.

जिसमें राहुल हर्ष फायरिंग करते हुए दिखाई दे रहा था. उसके बाद ही ये कार्रवाई उसके ऊपर की गई थी. राहुल का 1 बेटा और 1 बेटी है. पिता की मौत से दोनों ही बहुत दुखी हैं.

मामले में जीआरपी इंस्पेक्टर ने बताया, हमें शव मिलने की जानकारी मिली थी. मौके पर पहुंचे तो शव के पास से फोन बरामद हुआ. जिसके बाद हमें युवक की पहचान हो पाई है. परिवार के लोगों को भी मामले की जानकारी दी गई. शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: