Google search engine
HomeUncategorizedपत्नी ने प्रेमी संग मिलकर काट दिया पति का गुप्तांग, सनसनीखेज खुलासा.....

पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर काट दिया पति का गुप्तांग, सनसनीखेज खुलासा…..

पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर काट दिया पति का गुप्तांग, सनसनीखेज खुलासा

OFFICE DESK :- बेंगलुरू में गुरुवार को एक पत्नी द्वारा अपने पति का गुप्तांग काटने के बाद उसकी हत्या करने की चौंकाने वाली घटना सामने आई।

मामले की जांच करने वाली येलहंका पुलिस ने मामले में श्वेता और उसके प्रेमी सुरेश को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आंध्र प्रदेश के हिंदूपुर के रहने वाले हैं।

आरोपियों ने 21 अक्टूबर को चंद्रू की उसके आवास पर हत्या कर दी थी। पुलिस के अनुसार श्वेता की शादी परिवार के बड़े लोगों के कहने पर चंद्रू से की थी, दोनों की उम्र में 18 साल का अंतर था।

शादी के बाद चंद्रू श्वेता को हिंदुपुर में छोड़कर बेंगलुरु आ गया था। श्वेता शादी से पहले अपने कॉलेज के सीनियर सुरेश से प्यार करती थी और शादी के बाद भी दोनों ने अफेयर जारी रखा।

इसी बीच श्वेता का रिश्तेदार लोकेश भी उससे प्यार करने लगा और उसने अपनी भावनाएं उससे जाहिर कीं। सुरेश के साथ अपने अफेयर को छुपाते हुए उसने आरोप लगाया था कि लोकेश उसे परेशान कर रहा और चंद्रू ने हिंदूपुर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

समझौता बैठक में श्वेता ने अपने परिवार वालों और पुलिस की मौजूदगी में लोकेश को सैंडल से भी पीटा था। इस घटना के बाद चंद्रू अपनी पत्नी को येलहंका ले आया था।

इस बीच उसका प्रेमी सुरेश उसे मैसेज करता रहा। श्वेता, जिसे अपने अफेयर को जारी रखना मुश्किल लगा, फिर उसने उसे अपने पति को खत्म करने के लिए कहा।

21 अक्टूबर को जब चंद्रू घर लौटा, तो श्वेता उसे छत पर ले गई, जहां सुरेश पहले से ही इंतजार कर रहा था और उस पर हमला कर दिया। पुलिस का कहना है

कि श्वेता ने चंद्रू के साथ मारपीट करने के लिए अपने प्रेमी को लकड़ी का लट्ठा दिया था। पुलिस ने कहा कि उसने उसे चाकू भी दिया था और अपने पति का गुप्तांग काट दिया।

चंद्रू को मारने के बाद, श्वेता ने नाटक किया कि चंद्रू काम से घर नहीं लौटा। जब चंद्रू नहीं लौटा, तो परिवार के सदस्यों ने उसकी तलाश शुरू की और उसे छत पर खून से लथपथ पाया।

श्वेता ने अपने अभिनय को जारी रखते हुए, और कहा कि वह कुछ नहीं जानती हैं। पुलिस को उसके बारे में संदेह बढ़ गया क्योंकि वह अपने बयान बदल रही थी।

जब उससे पूछताछ की गई तो उसने लोकेश पर दोष मढ़ने की कोशिश की। उसने पुलिस को बताया था कि लोकेश एक साल से फोन कर उसे परेशान कर रहा था।

हालांकि, पुलिस जांच में पता चला कि लोकेश ने उसे कोई फोन नहीं किया था। जब श्वेता के मोबाइल डेटा की फिर से जांच की गई तो हत्या के दिन सुरेश के कॉल मिले। पुलिस ने यह भी पाया है कि उसने अपने घर की लोकेशन उसे भेजी थी।

पुलिस ने सुरेश को आंध्र प्रदेश के पेनुगोंडा से गिरफ्तार किया और श्वेता को भी गिरफ्तार कर लिया है, आगे की जांच जारी है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments